1. हिन्दी समाचार
  2. जरूर पढ़े
  3. Jagannath Rath Yatra: जय जगन्नाथ की गूंज केवल उड़ीसा मे ही नही बल्कि अन्य राज्यों में भी

Jagannath Rath Yatra: जय जगन्नाथ की गूंज केवल उड़ीसा मे ही नही बल्कि अन्य राज्यों में भी

हिन्दू धर्म के चारों धामों में से एक नाम जगन्नाथ पुरी का भी आता है। इस रथ यात्रा का प्रारंभ श्रावण के आषाढ मास की द्वितीय को किया जाता है और दशमी को इसका समापन होता है। इस रथ यात्रा में बाबा जगन्नाथ,उनके भाई बालभद्र और उनकी बहन सुभद्रा की प्रतिमाएं होती है । यह रथ यात्रा मंदिर से प्रारंभ की जाती है और माता गुंडीचा के मंदिर मे जाकर पूर्ण हो जाती है ।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

Jagannath Rath Yatra : जगन्नाथ मंदिर भारत में उड़ीसा के पुरी राज्य में स्थित है। हिन्दू धर्म के चारों धामों मे से एक नाम जगन्नाथ पुरी का भी आता है और हर वर्ष जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली जाती है,इस दिन भक्त अपने अराध्य के दर्शन मंदिर मे नहीं बल्कि रथ यात्रा के दौरान बहुत आराम से करते हैं ।

हिन्दू धर्म के चारों धामों मे से एक नाम जगन्नाथ पुरी का भी आता है। इस रथ यात्रा का प्रारंभ श्रावण के आषाढ मास की द्वितीया को किया जाता है और दशमी को इसका समापन किया जाता है इस रथ यात्रा मे जगन्नाथ,उनके भाई बलभद्र व उनकी बहन सुभद्रा की प्रतिमाए होती है । यह रथ यात्रा मंदिर से प्रारंभ की जाती है और माता गुंडीचा के मंदिर मे जाकर पूर्ण हो जाती है । यात्रा इतनी भव्य होती है कि लाखों श्रद्धालु अपने अराध्य के दर्शन करने आते है।

जानिए किन-किन स्थानों पर निकाली गई रथ यात्रा:

भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा की शोभा केवल उडीसा मे ही नहीं अन्य राज्यों मे भी देखी जा रही है।

हरियाणा में जगन्नाथ भगवान की भव्य यात्रा निकाली गई,दर्शन के लिए लोगों का उत्साह अलग ही प्रकार का था। यात्रा के लिए मार्गो को काफी आकर्षक ढंग से सजाया गया।दोपहर के बाद भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली गई। यात्रा के दौरान का वातावरण भक्तिमय हो गया था और साथ ही जय जगन्नाथ की गूंज भी सुनाई दी।
दिल्ली के हौस खास मे बना जगन्नाथ मंदिर काफी सराहनीय है क्योंकि इस मंदिर की वास्तुकला पुरी मे बने मंदिर के जैसी ही है।

उडीसा की तरह दिल्ली मे भी जगन्नाथ भगवाल की रथ यात्रा निकाली गई।रथ यात्रा का मार्ग काफी मनमोहक था,लोगो का जमावडा काफी भारी संख्या मे लगा हुआ था।यात्रा के दौरान भक्तों के लिए विशेष इंतजाम किए गए और प्रशासन ने भी लोगो को सुविधाएं प्रधान की।

उज्जैन जिसे भगवान शिव की नगरी कहा जाता है वहां दो बार भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली गई।एक बार रथ यात्रा इस्कान मंदिर से निकाली साथ ही दूसरी रथ यात्रा प्राचीन जगदीश मंदिर निकाली गई।मौके पर पहुंचकर सीएम मोहन यादव ने यात्रा को प्रारंभ किया।आपको बता दें कि उज्जैन में कई वर्षो से यह यात्रा निकाली जा रही है।

रांची  में भी भव्य तरीके से भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा का आयोजन किया गया ।यात्रा के दौरान भक्तों का सैलाब काफी था।चारों ओर जय जगन्नाथ की गूंज और ढोल -नगाडो के साथ यात्रा काफी अद्भूत लग रही थी।

वृंदावन  जिसे भगवान कृष्ण की नगरी कहा जाता है वहां यात्रा के दौरान भगवान कृष्ण के साथ साथ जय जगन्नाथ की गूंज सुनाई दे रही थी।यात्रा काफी भव्य तरीके से निकाली गई और भक्त काफी संख्या मे एकत्रित हो यात्रा मे मग्न हो गए थे।

अहमदाबाद  में भगवान जगन्नाथ की 147वीं रथ यात्रा निकाली गई।गृह मंत्री अमित शाह की यात्रा के दौरान मौजूद रहे और मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने सुबह मंदिर मे पहुंच कर आरती करके यात्रा की शुरुआत की।यात्रा के दौरान रथ में भगवान जगन्नाथ,उनके भाई बलभद्र व उनकी बहन सुभद्रा नजर आई और दशकों से पुरानी परंपरा के अनुसार खलासी समुदाय के लोगों ने रथ को खींचा।

THIS POST IS WRITTEN BY PRIYA TOMAR…

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...