Home योग और स्वास्थ्य कच्ची हल्दी के ये गुण जानते है आप ! कैंसर से हो सकता है बचाव

कच्ची हल्दी के ये गुण जानते है आप ! कैंसर से हो सकता है बचाव

0 second read
0
2

इस देश में ऐसी कौन सी रसोई है जहां हल्दी का इस्तेमाल नहीं होता हो, इस देश में हल्दी का इस्तेमाल सदियों से औषधि के रूप में होता आया है और आज विज्ञान भी इस बात को मानता है कि हल्दी अपने आप में एक एंटी बायोटिक है।

पाचन को ठीक करने और रक्त शुद्धि में हमारें पूर्वज इसका इस्तेमाल सदियों से करते आ रहे है।

लेकिन क्या आपको पता है कच्ची हल्दी के गुण हल्दी से भी अधिक होते है। वही कच्ची हल्दी के इस्तेमाल के दौरान निकलने वाला रंग हल्दी रंग से अधिक गाढ़ा होता है।

कच्ची हल्दी हल्दी ऐंटी बैक्टिरियल, ऐंटी वायरल, ऐंटी फंगल और ऐंटा इन्फ्लेमेट्री गुणों से भरपूर होती है।

दरअसल अदरक की तरह ही कच्ची हल्दी को भी बाद में पाउडर में बदला जाता है, क्यूंकि किसी भी औषधि को पीसकर इस्तेमाल करना लाभदायक माना जाता है, लेकिन कच्ची हल्दी के कई गुण ऐसे है जो उसके पाउडर में नहीं होते जैसे करक्युमिन जो मधुमेह के रोगियों के लिए बेहद ज़रूरी है लेकिन ये पाउडर में नहीं होता।

कच्ची हल्दी पित्त रोगों में बड़ी लाभदायक है, पाचन तंत्र को मजबूत करती है वही अच्छे डाइजेशन के लिए यह रामबाण औषधि है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि कच्ची हल्दी कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोक देती है।

यह ट्यूमर से भी बचाव करती है। कच्ची हल्दी का एक और जो अच्छा गुण है वो यह है कि गठिया रोग में यह लाभदायक होती है। हल्दी में सूजन रोकने की खासियत होती है वही यह  फ्री रेडिकल्स को खत्म करती है इसलिए घुटनों के दर्द में रामबाण औषधि है।

Load More In योग और स्वास्थ्य
Comments are closed.