1. हिन्दी समाचार
  2. कृषि मंत्र
  3. किसान भाइयों के लिए जरुरी खबर ! पराली को खाद बनाने वाले पूसा डी-कंपोजर के बारे में जाने

किसान भाइयों के लिए जरुरी खबर ! पराली को खाद बनाने वाले पूसा डी-कंपोजर के बारे में जाने

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण संकट का एक बड़ा कारण पराली को माना जाता है। किसान पराली जलाते है और उससे धुँआ होता है लेकिन अब किसान भाइयों को पराली जलाने की जरूरत नहीं है। आपको बता दे कि भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, पूसा ने एक ऐसा डी कम्पोज़र बनाया है जिससे पराली खाद बन जाती है।

पूसा इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने कहा कि वे बॉयो-डीकंपोजर  केमिकल के परिणाम से बहुत ही खुश हैं. उन्होंने कहा कि इसके नतीजों से यह साफ हो गया है कि अब पराली का समाधान है।

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने पराली की बढ़ती समस्या का समाधान खोजा है.इस साल केजरीवाल सरकार ने भी इसका इस्तेमाल करके देखा है। पूसा के कृषि वैज्ञानिकों का कहना है कि इसके घोल के छिड़काव से पराली खाद बन जाएगी।

आपको यह भी बता दे, कि यह समाधान इतना सस्ता है कि दिल्ली के अंदर केवल 20 लाख रुपये की लागत से ही बॉयो-डीकंपोजर केमिकल का छिड़काव हो गया है।

पराली जलाने से किसानों को नुकसान है और इससे जो हीट निकलती है उसकी वजह से मित्र कीट खत्म हो जाते हैं। खेत की उर्वरा शक्ति कमजोर हो जाती है और  इसे किसानों को बताने की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...