Home देश मर कर भी बस ड्राइवर दे गया 35 लोगो को नई जिंदगी, मौत थी सामने फिर भी डटा रहा

मर कर भी बस ड्राइवर दे गया 35 लोगो को नई जिंदगी, मौत थी सामने फिर भी डटा रहा

0 second read
0
2

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

हिमांचल: सरकाघाट  से  एक बस ड्राइवर की जिंदादिली की खबर सामने आ रही है, जिसे जानकर आप भी उस ड्राइवर की तारीफ करने से नहीं चूकेंगे। इस ड्राइवर ने 35 लोगों की जान बचाकर खुद मौत के मुंह में समा गया। आपको बता दें कि हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की चलती बस में ड्राइवर को दिल का दौरा पड़ गया। जब ड्राइवर को दिल का दौरा पड़ा तो उस वक्त बस में 35 यात्री सवार थे। चालक ने बेहोश होने से पहले पूरी सुझबूझ दिखाई जैसे-तैसे ब्रेक लगाकर यात्रियों की जान बचा ली। जिससे एक बड़ा हादसा होने से बच गया।

आपको बता दें कि ड्राइवर को दिल का दौरा सरकाघाट उपमंडल के सधोट गांव के पास पड़ा। रोज की तरह एचआरटीसी बस चालक श्याम लाल अपनी ड्यूटी पर पहुंचे और सरकाघाट की तरफ सावरियों को बैठाकर बस लेकर चल दिए। कुछ दूर चलते ही श्याम लाल के सीने में अचानक दर्द हुआ। दर्द से कराह रहे शाम लाल ने सूझबूझ दिखाते हुए बस को नियंत्रित कर खड़ी कर दी। जिससे बड़ा हादसा होने से बच गया।

श्याम लाल ने बस को साइड में लगाने के बाद यात्रियों को उतरने को कहा। फिर वह बेहोश हो गये, सावारियों ने राहगीरों की मदद से श्याम लाल को हमीरपुर जिला अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने उसे बचाने का भरपूर प्रयास किया, लेकिन इलाज के दौरान श्याम लाल ने दम तोड़ दिया। आपको बता दें कि इस घटना की पुष्टि क्षेत्रीय प्रबंधक नरेंद्र शर्मा ने की।

Load More In देश
Comments are closed.