Home Madhya Pradesh मध्य प्रदेश में कोरोना ने तोड़ा बच्चों का मनोबल, बढ़ रहे संक्रमण से सरकार ने 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित

मध्य प्रदेश में कोरोना ने तोड़ा बच्चों का मनोबल, बढ़ रहे संक्रमण से सरकार ने 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित

0 second read
0
11

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

भोपाल: मध्य प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण का असर भी देखने को मिलने लगा है। मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने बढ़ रहे ऑकड़े को देखते हुए मंगलवार को बड़ा फैसला फैसला लिया है। शिवराज सरकार ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परिक्षाएं स्थगित करने का एलान कर दिया है। बोर्ड परिक्षाएं 30 अप्रैल से आयोजित होनी थी।

मिली जानकारी के मुताबिक अब ये बोर्ड परीक्षाएं जून में आयोजित होंगी। लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बाद से ही ये कयास लगाए जा रहे थे कि बोर्ड परीक्षाओं को टाला जा सकता है, इस संबंध में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने हुए कहा था कि कोरोना के मामले जिस तरह से बढ़ रहे हैं उसको देखते हुए हम बच्चों को संकट में नहीं डालेंगे और बोर्ड परीक्षा की तारीखें आगे बढ़ाई जा सकती हैं।

आपको बता दें कि एमपी बोर्ड की 10वीं 12वीं की परीक्षाएं 30 अप्रैल से शुरू होनी थीं 30 अप्रैल से 10वीं और 1 मई से 12वीं की परीक्षाएं आयोजित की जानी थीं लेकिन कोरोना के मद्देनजर इसे रदद कर दिया गया है। बोर्ड परीक्षाओं के अलावा मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग ने वन सेवा परीक्षा भी स्थगित कर दी गई है। यह परीक्षा 18 अप्रैल को प्रस्तावित थी।

मध्य प्रदेश के चार बड़े शहरों इंदौर, ग्वालियर, भोपाल, जबलपुर की बात करें तो इन चार शहरों में पिछले 24 घंटे में 4136 नये मामले सामने आये हैं। इंदौर में अब तक एक दिन में सबसे ज्यादा 1,552 नए कोरोना मरीज मिले हैं और 6 लोगों की मौत हो गई। पिछले साल पूरे अप्रैल महीने में करीब 1,400 मरीज मिले थे, लेकिन इस बार एक दिन में ही उससे ज्यादा मरीज सामने आ गए हैं। सोमवार को रिकॉर्ड सैंपल जांचे गए। अब तक एक दिन में सबसे ज्यादा 8,553 सैंपल की जांच हुई। पॉजिटिव रेट बढ़कर 18% पर पहुंच गया है।

Load More In Madhya Pradesh
Comments are closed.