Home Madhya Pradesh BJP नेता ने शव वाहनों के साथ कराया फोटोशूट, मचा बवाल

BJP नेता ने शव वाहनों के साथ कराया फोटोशूट, मचा बवाल

2 second read
0
4

रिपोर्ट – पल्लवी त्रिपाठी 

मध्य प्रदेश : कोरोना महामारी की दूसरी लहर घातक होती जा रही है है। कोरोना से होने वाली मौतों से स्थिति और भी ज्यादा डरावनी होती गई है। ऐसे में बीजेपी नेता ने अस्पतालों को मुक्ति वाहन सौंपे हैं, जिनके साथ बीजेपी नेता ने फोटो भी खिंचवाएँ। हालांकि, इसे लेकर बीजेपी नेता विपक्ष के निशाने पर आ गए। 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बीजेपी के उपाध्यक्ष और पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने 6 अस्पतालों को 6 शव वाहन सौंपे। इस दौरान उन्होंने शव वाहनों के साथ फोटो खिंचवाई। इस मौके पर जेपी अस्पताल प्रबंधन के सीनियर डॉक्टर्स व भाजपा के स्थानीय कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

इस पूरे आयोजन का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिस पर कांग्रेस ने भाजपा नेता को आड़े हाथों लेते हुए सवाल खड़े कर दिए। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट करते हुए भाजपा नेता पर तंज कसा। उन्होंने लिखा- ‘शर्म करो बेशर्मों? इंदौर में ऑक्सीजन के टैंकर को घंटो रोककर बीजेपी नेताओ ने खूब फोटो बाजी बाजी की और अब भोपाल में भाजपा के पूर्व महापौर आलोक शर्मा शव वाहनो के साथ फ़ोटो बाज़ी करते हुए? इंदौर में बन रहे कोविड केयर सेंटर पर भाजपा नेताओं का दौरा? आपदा में भी अवसर-फ़ोटो बाज़ी?’

इतना ही नहीं कांग्रेस ने आरोप लगाया कि कार्यक्रम के दौरान ही एक पीड़ित व्यक्ति ने शव को श्मशान घाट ले जाने के लिए शव वाहन मांगा तो उसे कुछ देर इंतज़ार करवाया गया। जिस पर भाजपा नेता आलोक शर्मा ने एक मीडिया चैनल से बातचीत में कांग्रेस के सभी आरोपों का खंडन किया और बताया कि ‘उनके कार्यक्रम के दौरान किसी भी शख्स को शव वाहन ले जाने से नहीं रोका गया बल्कि शव वाहनों को सौंपने के बाद जब एक शख्स आया तो उसे तुरंत शव वाहन उपलब्ध करवाया गया। जिसे लेकर वो मेरे सामने ही श्मशान घाट के लिए रवाना हो गया।’  

जब वो शव वाहन लेकर जा रहा था तो उस दौरान कुछ दूर तक मीडिया के साथी भी गए। आलोक शर्मा ने कहा- ‘मैंने अच्छे मन से, सेवा के मकसद से शव वाहन अस्पतालों को सौंपे हैं लेकिन कांग्रेस इसे गलत तरीके से पेश कर रही है। मैं बहुत दुखी हूं क्योंकि मेरे पास लगातार लोगों के कॉल आ रहे हैं जो इसका सच जानना चाहते हैं। मैं किस-किस को सफाई देता रहूँ।’ 

Load More In Madhya Pradesh
Comments are closed.