Home लाइफस्टाइल गलती से भी अपनी थाली में ना छोड़े ये 5 कड़वी चीजें, पड़ जाएगा शरीर पर भारी

गलती से भी अपनी थाली में ना छोड़े ये 5 कड़वी चीजें, पड़ जाएगा शरीर पर भारी

6 second read
0
22

रिपोर्ट: गीतांजली लोहनी

नई दिल्ली: आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई अनहेल्थी तरीके से लाइफस्टाइल जी रहा है जिससे जवान-जवान लोगों में भी कई गंभीर बिमारी का खतरा पनपने लगा है। अगर आपको अपनी सेहत का ध्यान रखना है तो आपको अपने खाने पीने की चीजों पर नजर रखना बेहद जरुरी है।

वैसे पिछले साल जबसे दुनियाभर में कोरोना फैला है तभी से लोग अपनी सेहत को लेकर सचेत रहने लगे है। कोरोना महामारी के समय आपने एक शब्द बहुत ज्यादा सुना होगा वो शब्द है इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत रखें। वैसे कोरोना जैसी बड़ी महामारी हो या फिर कोई भी बिमारी हमारा इम्यून सिस्टम अगर स्ट्रॉग रहेगा तो शरीर सारी बिमारी से लड़ पायेगा और कोई भी बिमारी शरीर को नहीं छू पाएगी। जी हां ये बात बिल्कुल सहीं है कि आज के समय में अगर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर है तो आप बीमारियों से ना केवल लड़ पाते हैं, बल्कि बदलते मौसम में भी आप बीमार नहीं पड़ते है। ऐसे में अगर आपको अपनी इम्यूनिटी को स्ट्रांग करना है तो आप अपनी डाइट में कड़वी चीजों को शामिल करें। कड़वी चीज भले ही स्वादिष्ट ना हो लेकिन आपको तंदुरुस्त रखने में बिल्कुल कारगर होती हैं। तो चलिए जानते हैं उन चीजों के बारे में जो हमारे शरीर के लिए लाभदायक है-

करेला-

करेले को आप उसके कड़वे स्वाद के लिए जानते होंगे। लेकिन यह सेहत के लिए कितना फायदेमंद है यह शायद आपको पता ही ना हो। करेले के अंदर Triterpenoids जैसे फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं। इसके अलावा करेले के अंदर फ्लेवोनोइड्स भी मौजूद होते हैं जो शरीर में कैंसर के सेल्स को बढ़ने से और पैदा होने से रोकते हैं। साथ ही करेले के सेवन से ब्लड में मौजूद शुगर लेवल नियंत्रित रहता है। यह टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। करेले में कुछ एंटी ऑक्सीडेंट तत्व भी पाए जाते हैं, यह तत्व उन सेल्स की ठीक करते हैं जो फ्री रेडिकल्स के कारण प्रभावित होते हैं।

हरी सब्जी-

हरी पत्तेदार सब्जियों के अंदर पाए जाने वाले बहुत से ऐसे तत्व हैं जो आपको अन्य किसी सब्जी के अंदर नहीं मिलते। विज्ञान की माने तो रोजाना एक व्यक्ति को कम से कम 2 कप से ज्यादा हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए। इनमे आप पालक, ब्रोकली, साग और पत्ता गोभी जैसी चीजों का सेवन कर सकते हैं। आपको बता दें कि हरी पत्तेदार सब्जियों के अंदर आयरन, कैल्शियम विटामिन और कई मिनरल्स पाए जाते हैं। कुल मिलाकर इन सब्जियों में इतने पोषक तत्व होते हैं जिनकी आवश्यकता आपको दिनभर में होती है। साथ ही इन सब्जियों के कारण कैंसर की समस्या भी पैदा नहीं होती।

डार्क चॉकलेट-

चॉकलेट खाना लड़कियों को बेहद पसंद होता है। लेकिन डार्क चॉकलेट के मामले में लड़कियां हो या लड़के दोनों ही इनसे बचते दिखाई देते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि डार्क चॉकलेट खाने में बेहद कड़वी होती है। डार्क चॉकलेट में कोकोआ पाउडर मिलाया जाता है, जो कोकोआ प्लांट की बीन्स से बनता है। इसके कड़वे होने का कारण है पॉलीफेनोल्स और एंटीऑक्सीडेंट तत्व। डार्क चॉकलेट के अंदर मौजूद इन तत्वों की वजह से आपके ब्लड वैसल्स चौड़े हो जाते है। साथ ही इससे इंफ्लेमेशन की समस्या में भी राहत मिलती है। डॉर्क चॉकलेट में जिंक, कॉपर, मैग्नीशियम और आयरन जैसे तत्व भी पाए जाते हैं। यह तत्व आपको सेहतमंद बनाए रखने में मदद करते हैं।

विटामिन c युक्त फल-

साइट्रस फ्रूट का सेवन तो आप सभी ने किया होगा। आपको बता दें कि साइट्रस फल वह होते हैं जो स्वाद में थोड़े खट्टे और मीठे होते हैं, जैसे संतरे और नींबू आदि। आमतौर पर लोगों को लगता है कि केवल संतरे या साइट्रस फलों का रस ही लाभदायक है। लेकिन हम आपको बता दें कि साइट्रस फलों के छिलके भी उतने ही फायदेमंद होते हैं। यह स्वाद में बेहद कड़वे हों लेकिन आपकी बहुत सी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का अंत कर सकते हैं। इन फलों के छिलके के अंदर फ्लेवोनॉयड्स होता है जो आमतौर पर कुछ ही फलों के अंदर ही पाया जाता है। आप साइट्रस फलों के छिलके को अपनी रोजाना की डाइट में स्वाद को बेहतर करने और सेहतमंद रहने के लिए शामिल कर सकते हैं।

ग्रीन टी-

ग्रीन टी का सेवन करने की सलाह ना केवल आयुर्वेद बल्कि विज्ञान भी देता है। वजन कम करना हो, मेटाबॉलिज्म मजबूत करना हो या हृदय संबंधित समस्याओं से बचना हो। इन सभी समस्याओं से निपटने के लिए आप ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। अगर आप रोजाना चाय या कॉफी का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो आप इनकी जगह ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि ग्रीन टी का सेवन भी आपको तय मात्रा में ही करना होगा। आप स्वस्थ रहने के लिए रोजाना 2 कप ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं।

Load More In लाइफस्टाइल
Comments are closed.