1. हिन्दी समाचार
  2. जरूर पढ़े
  3. यहां 5000 रुपये किलो में बिकता है गधी का दूध, ये है वजह…

यहां 5000 रुपये किलो में बिकता है गधी का दूध, ये है वजह…

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नई दिल्ली:  जब भी गधे की बात होती है तो एक बेबस और बेचारा जानवर की छवि दिमाग में आती है. वहीं, जानवरों में भी गधे को ज्यादा तवज्जो नहीं दी जाती है. लेकिन, क्या आप जानते हैं भारत में जिस गधे का इस्तेमाल सिर्फ सामान ढोने के लिए किया जाता है, उस प्रजाति की मादा का दूध काफी फायदेमंद होता है और काफी महंगा आता है. जी हां, गधी का दूध काफी कीमती होता है और इसकी कीमत भी काफी ज्यादा होती है. भारत में भले ही इसका पालन नहीं किया जा रहा है, लेकिन कई देशों में गधी का पालन किया जाता है और इसका दूध हजारों रुपये में बेचा जाता है.

अगर आप भी गधे का ज्यादा भाव नहीं देते हैं तो आपको बताते हैं कि इस गधे के दूध की क्या वैल्यू है और किस तरह से यह अन्य जानवरों के दूध से बेहतर होता है. ऐसे में जानते हैं गधी के दूध से जुड़ी खास बातें, जो आप शायद ही जानते होंगे…

गधी के दूध के क्या हैं फायदे?

बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार, यह दूध एक इंसानी दूध की तरह है, जिसमें प्रोटीन और वसा की मात्रा कम होती है लेकिन लैक्टॉस अधिक होता है. संयुक्त राष्ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन के अनुसार, इसका उपयोग कॉस्मेटिक्स और फ़ार्मास्युटिकल उद्योग में भी होता है क्योंकि कोशिकाओं को ठीक करने और प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के भी इसमें गुण हैं. इस रिपोर्ट में डॉक्टर्स का कहना है लैक्टॉज़, विटामिन ए, बी-1, बी-2, बी-6, विटामिन डी और विटामिन ई भी होता है.

एक दिन में कितना दूध देती है?

अगर गधी के दूध की बात करें तो गधी एक दिन में ज्यादा दूध नहीं देती है. एक गधी एक दिन में ज्यादा से ज्यादा आधा किलो दूध देती है. हालांकि, अगर इसके लिए उनका अच्छे से पालन करना होता है, ऐसा नहीं है कि आप पूरे दिन काम करवाएं. उनकी डाइट आदि का खास ध्यान रखना होता है.

कितनी है कीमत?

दूध में कई फायदेमंद गुण होने की वजह से इसकी कीमत काफी ज्यादा होती है. भारत में अभी गधी के दूध की डिमांड कम है, लेकिन विदेशों की बात करें तो भारतीय मुद्रा के अनुसार, वहां यह 5000 रुपये के करीब बिकता है. यानी एक लीटर दूध के लिए 5000 रुपये तक देने पड़ते हैं. हालांकि, भारत में सस्ते में भी यह दूध मिल जाता है, जब किसी को जरूरत पड़ती है.

भारत में क्या है स्थिति?

भारत में तो गुजरात के हलारी नस्ल के गधों की डिमांड बढ़ रही है. वैसे रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि भारत में गधों की नस्लों को लेकर काम हो रहा है. गधी के दूध का कारोबार भारत में उस तरह से नहीं है जिस तरह से यह यूरोप और अमरीका में शुरू हो चुका है. हालांकि, अब इसका चलन बढ़ रहा है और गधी पालन का काम कर रहे हैं. इसके अलावा अभी कई ऑनलाइन वेबसाइट पर गधी के दूध से बने साबुन आदि भी बिक रहे हैं.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...