Home देश भारतीय सेना में कम होंगे 1 लाख जवान, जानिये क्या कहा CDS विपिन रावत ने

भारतीय सेना में कम होंगे 1 लाख जवान, जानिये क्या कहा CDS विपिन रावत ने

1 second read
0
323

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: भारतीय सेना से अगले 3-4 साल में एक लाख जवान कम हो जायेंगे, सीडीएस विपिन रावत ने   इस लक्ष्य के बारे में संसद की स्टैंडिंग कमेटी को जानकारी दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के की मानें तो, स्टैंडिंग कमेटी में सीडीएस जनरल विपिन रावत ने कहा, जब जनरल वीपी मलिक आर्मी चीफ थे तब उन्होंने 50 हजार सैनिक कम करने की सोंची थी, हमारा लक्ष्य अगले 3-4 साल में करीब एक लाख सैनिक कम करने का है।

इस दौरान सीडीएस रावत ने कहा, एक लाख सैनिक कम करने से जो उन्हें वेतन दिया जाता था, उस पैसे का इस्तेमाल आधुनिक तकनीक को बढ़ावा देने के लिए किया जायेगा। सरकार ने भी सेना को इस रकम के तकनीक में इस्तेमाल का आश्वाशन दिया है, स्टैंडिंग कमेटी की रिपोर्ट पिछले महीनें संसद में पेश की गई, भारतीय सेना में ढांचागत बदलाव की प्रक्रिया चल रही है, जिसमें दिल्ली स्थित आर्मी हेडक्वार्टर्स से भी ऑफिसर्स को कम करके फील्ड में भेजने की योजना पर काम चल रहा है।

इसके साथ ही चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि अब सेना तकनीक पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान देना चाहती है और नए तरीके के युद्ध के लिए खुद को तैयार करना चाहती है।

आइये जानते हैं क्या है टूथ टु टेल रेशियो

टूथ टु टेल रेशियो भारतीय सेना में वह ऑकड़ा होता है, जिसमें सैन्य कार्रवाइयों में भाग लेने वाले और उनके लिए रसद आदि पहुंचाने वाले सैनिकों के बीच के अनुपात को कहा जाता है। भारतीय सेना में ढांचागत बदलाव की प्रक्रिया चल रही है। जिसमें दिल्ली स्थित आर्मी हेडक्वॉर्टर से भी ऑफिसर्स को कम कर फील्ड में भेजने की योजना पर काम चल रहा है।

Load More In देश
Comments are closed.