1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. देश को मिल सकती है पहली मुख्य न्यायाधीश, एन वी रमना ने केंद्र को भेजी 9 नामों की सिफारिश, जिनमें 3 महीला

देश को मिल सकती है पहली मुख्य न्यायाधीश, एन वी रमना ने केंद्र को भेजी 9 नामों की सिफारिश, जिनमें 3 महीला

सुप्रीम कोर्ट में जजों के 9 खाली पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसे लेकर कोर्ट ने 22 महीने बाद 9 नई नियुक्तियों की सिफारिश केंद्र को भेजी है। इनमें 3 महिला जज हैं। साथ ही एक वरिष्ठ वकील की सीधे सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति के लिए सिफारिश की गई है। मिली जानकारी के अनुसार चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमण (CJI NV Ramana) ने मंगलवार को सरकार के पास यह नाम भेजे हैं।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट में जजों के 9 खाली पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसे लेकर कोर्ट ने 22 महीने बाद 9 नई नियुक्तियों की सिफारिश केंद्र को भेजी है। इनमें 3 महिला जज हैं। साथ ही एक वरिष्ठ वकील की सीधे सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति के लिए सिफारिश की गई है। मिली जानकारी के अनुसार चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमण (CJI NV Ramana) ने मंगलवार को सरकार के पास यह नाम भेजे हैं।

आपको बता दें कि कॉलेजियम ने पहली बार तीन महिला न्यायाधीशों के नामों की सिफारिश की है। इसमें कर्नाटक हाईकोर्ट की जज जस्टिस बी वी नागरत्ना, तेलंगाना हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस हिमा कोहली और गुजरात हाईकोर्ट की जज जस्टिस बेला त्रिवेदी के नाम सरकार को भेजे गए हैं। इसमें जज जस्टिस नागरत्ना भारत की पहली महिला सीजेआई बन सकती हैं। नागरत्ना साल 2027 में सीजेआई बन सकती हैं।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में फिलहाल एक महिला जज जस्टिस इंदिरा बनर्जी हैं। वह सितंबर 2022 में सेवानिवृत्त होने वाली हैं। सर्वोच्च न्यायालय में अब तक केवल आठ महिला न्यायाधीशों की नियुक्ति हुई है। जज जस्टिस रोहिंटन नरीमन के सुप्रीम कोर्ट से सेवानिवृत्त होने के कुछ ही दिनों बाद यह सिफारिशें की गई हैं। जज जस्टिस नरीमन साल 2019 से कॉलेजियम के सदस्य थे। द इंडियन एक्स्प्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार नरीमन, कर्नाटक हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अभय ओका और त्रिपुरा हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अकील कुरैशी की सिफारिश पहले करने की बात कर रहे थे। वह अपने रुख पर अड़े हुए थे, जिसके चलते कोलेजियम से नाम भेजे नहीं जा रहे थे।

कोलेजियम ने की इन नामों की सिफारिश

 

जिन लोगों के नाम केंद्र को भेजे गए हैं, वह हैं :-

तेलंगाना हाई कोर्ट की चीफ जस्टिस हिमा कोहली

कर्नाटक हाई कोर्ट की जज जस्टिस बी वी नागरत्ना

गुजरात हाई कोर्ट की जज जस्टिस बेला त्रिवेदी

वरिष्ठ वकील पी एस नरसिम्हा को सीधे सुप्रीम कोर्ट जज बनाने की सिफारिश की गई है।

कर्नाटक हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस ए एस ओका

गुजरात हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस विक्रम नाथ

सिक्किम हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस जे के माहेश्वरी

केरल हाई कोर्ट के जज जस्टिस सी टी रविंद्रकुमार,

मद्रास हाई कोर्ट के जज एम एम सुंदरेश

 

अगर केंद्र इन सभी सिफारिशों को मान लेता है तो भविष्य में जस्टिस विक्रम नाथ, जस्टिस बी वी नागरत्ना और पी एस नरसिम्हा भारत के मुख्य न्यायाधीश बन सकते हैं। अब तक सुप्रीम कोर्ट में कोई भी महिला चीफ जस्टिस नहीं हुई है। जस्टिस नागरत्ना के रूप में भारत को पहली महिला चीफ जस्टिस मिल सकती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...