Home देश वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार ने जारी किए ऑकड़े, डोज लेने के बाद 10 हजार में सिर्फ 3 लोग ही संक्रमित

वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार ने जारी किए ऑकड़े, डोज लेने के बाद 10 हजार में सिर्फ 3 लोग ही संक्रमित

2 second read
0
13

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: देश में लगातार कोरोना का कहर जारी है, पिछले एक साल से महामारी से मरने वालों के सबसे ज्यादा मामले बुधवार को सामने आये। बुधवार को पहली बार मरने वालों का ऑकड़ा दो हजार के पार चला गया। इसके साथ ही सबसे चिंता वाली बात यह है कि तीन लाख के करीब नये मामले सामने आएं हैं। लागातार बढ़ रहे संक्रमण के बीच सरकार वैक्सीनेशन की प्रकृया को और तेज कर दी है। इसके साथ ही 1 मई से 18 साल से उपर वालों को भी वैक्सीन लगाने का एलान कर दिया गया है।

आपको बता दें कि केंद्र सरकार वैक्सीन को लेकर एक ऑकड़ा जारी की है, सरकार के इस ऑकड़े से जिन लोंगो में अब भी वैक्सीन को लेकर आशंका है, वह कम होगी। सरकार द्वारा जारी ऑकड़े के मुताबिक जिन लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली है, उनमें सिर्फ 5500 लोग ही कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। इसका सीधा मतलब है कि दस हजार में सिर्फ तीन लोग ही संक्रमित पाए गए हैं।

केंद्र सरकार द्वारा जारी इस ऑकड़े में आगे बताया गया कि जो लोगो कोविशील्ड या कोवैक्सीन की पहली खुराक ले चुके 21000 से ज्यादा लोग संक्रमित पाए गए हैं, जबकि उनकी दोनों खुराक ले चुके लोगों में से भी 5500 से ज्यादा लोग संक्रमित पाए गए। मौजूदा वक्त में कोवैक्सीन और कोविशील्ड की लगभग 13 करोड़ डोज लोगों को लगाई जा चुकी है। कोवैक्सीन की 1.1 करोड़ डोज में 93,56,436 लोग पहली डोज लगवा चुके हैं। पहली डोज के बाद पॉजिटिव होने वालों की संख्या 4208 है, जोकि 0.04 फीसदी है। वहीं, 17,37,178 लोग कोवैक्सीन की दूसरी डोज लगवा चुके हैं। सिर्फ 695 लोग ही पॉजिटिव पाए गए हैं। यह दूसरी डोज लगवा चुके लोगों का सिर्फ 0.04 फीसदी ही है।

इसके साथ ही कोविशील्ड की साढ़े 11 करोड़ से अधिक डोज लगाई जा चुकी हैं। सरकार द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, 10,03,02,745 लोगो ने पहली डोज लगाई गई हैं, जबकि इसमें से 17145 (0.02फीसदी) पॉजिटिव हुए हैं। वहीं, दूसरी डोज 15732754 दी गई हैं, जिसमें से 5014 लोग कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। यह सिर्फ 0.03 फीसदी है। सरकार के इन आंकड़ों से साफ है कि वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने वाले लोगों को कोरोना की दूसरी लहर में काफी राहत मिली है और संक्रमित होने वालों की संख्या काफी कम है।

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने बताया कि तीस साल या उससे अधिक उम्र के लोगों में पहली लहर में कोविड-19 के 67.5 फीसद मामले आए थे, वहीं दूसरी लहर में इस आयुवर्ग के 69.18 प्रतिशत मामले आए हैं। महामारी की पहली लहर में 20 से 30 साल के आयुवर्ग में कोविड-19 के 20.41 प्रतिशत मामले आए, जबकि दूसरी लहर में इस आयुवर्ग के 19.35 प्रतिशत मामले रहे। महामारी की पहली लहर में 10 से 20 साल के आयुवर्ग में कोविड-19 के 8.07 प्रतिशत मामले मिले थे। दूसरी लहर में 8.50 प्रतिशत मामले सामने आए हैं।

Load More In देश
Comments are closed.