1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. BARABANKI: SP का आदेश, 2 साल ज्यादा नौकरी करने वाले दारोगा से की जाए रिकवरी

BARABANKI: SP का आदेश, 2 साल ज्यादा नौकरी करने वाले दारोगा से की जाए रिकवरी

UP के बाराबंकी जिले में जिस दारोगा दो साल पहले रिटायर हो जाना चाहिए था, वह अब भी नौकरी कर रहा था। मामला सामने आने के बाद CO क्राइम को इसकी जॉच सौंपी गई है। इसके साथ ही उस दारोगा से रिकवरी का आदेश हुआ है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

बाराबंकी: यूपी के बाराबंकी से एक ऐसा मामला सामने आया जिससे पुलिस महकमें में भी हड़कंप मच गया है। जिले के जिस दारोगा को को 31 अक्टूबर, 2019 को रिटायर हो जाना था, वह अभी तक नौकरी कर रहे हैं। वो 2 साल से लगभग 80 हजार रुपए प्रति महीने वेतन भी उठा रहे हैं। प्रकरण सामने आने के बाद CO क्राइम को इसकी जांच सौंपी गई है।

आपको बता दें कि अब दारोगा के वेतन से रिकवरी का आदेश दिया गया है। इसके साथ ही  इस मामले से सबक लेते हुए जिले के करीब 4000 पुलिसकर्मियों का रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक जगतपाल वर्मा मूलरूप से लखीमपुर खीरी जनपद के पुलिस विभाग में आरक्षी थे। प्रमोशन पाकर वह हेड कांस्टेबल हुए और ट्रांसफर पर बाराबंकी में तैनाती मिल गई। इसके बाद साल 2016 में वह सब इंस्पेक्टर हो गए। इसी समय से वह जिले में ही तैनात हैं। उनके जन्मतिथि के अनुसार, जगतपाल वर्मा को 31 अक्टूबर, 2019 को रिटायर हो जाना चाहिए था।

ये भी पढ़ें: पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी का अपने सभी मंत्रियों को अहम निर्देश…. आधार पर करें काम

लगभग एक हफ्ते पहले यह मामला उस वक्त सामने में आया, जब पुलिस अधिक्षक (SP) के आदेश पर रुटीन में सेवानिवृत्त के करीब उम्र वाले पुलिसकर्मियों का रिकॉर्ड खंगाला जा रहा था। मामला सामने आने के बाद इसकी जांच CO क्राइम पकंज सिंह को सौंपी गई। कहा जा रहा है कि जगतपाल वर्मा की सही जन्मतिथि 1959 है, लेकिन भर्ती के समय ही तैयार किए दस्तावेजों व चरित्र पत्रिका में 1962 दर्ज कर दिया गया।

आपको बता दें कि सही जन्मतिथि के हिसाब से उनके 2019 में सेवानिवृत्त हो जाना चाहिए,लेकिन चरित्र पत्रिका में दर्ज जन्मतिथि के आधार पर वह साल 2022 में सेवानिवृत्त होंगे। SP  के आदेश पर उन्हें पुलिस लाइंस से रवाना कर दिया गया है। उनकी रवानगी कहां के लिए हुई है, इसकी जानकारी नहीं दी गई है।

ये भी पढ़ें: IND vs ENG: जो रुट ने कहा रोहित शर्मा और शार्दुल ठाकुर नहीं बल्कि इस भारतीय खिलाड़ी के कारण मिली करारी हार

आपको बता दें कि सूत्रों का कहना है कि इतनी बड़ी चूक किस स्तर पर हुई, इसका पता लगाने के लिए जांच अधिकारी को जगतपाल वर्मा के भर्ती के समय के दस्तावेज खंगालने होंगे। इसमें कई लोगों पर कार्रवाई होने की आशंका है। जांच अधिकारी ने बताया कि मामला काफी पुराना है, जांच चल रही है। इसके साथ ही वेतन रिकवरी के आदेश जारी हो गए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...