1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Vaccination Record पर बोले पीएम मोदी- जन्मदिन तो आएंगे और जाएंगे, लेकिन कल के दिन ने मेरे दिल को छू लिया, टूटा चीन का रिकॉर्ड

Vaccination Record पर बोले पीएम मोदी- जन्मदिन तो आएंगे और जाएंगे, लेकिन कल के दिन ने मेरे दिल को छू लिया, टूटा चीन का रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर देश ने कोरोना वैक्सीनेशन में एक नया रिकॉर्ड अपने नाम किया, जिससे उसने अपने पड़ोसी मुल्क चीन को पछाड़ दिया। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने आज गोवा में स्वास्थ्य कर्मचारियों और कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम के लाभार्थियों से संवाद किया। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कल मेरा जन्मदिन था, लेकिन आप सभी ने इस दिन को खास बना दिया।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर देश ने कोरोना वैक्सीनेशन में एक नया रिकॉर्ड अपने नाम किया, जिससे उसने अपने पड़ोसी मुल्क चीन को पछाड़ दिया। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने आज गोवा में स्वास्थ्य कर्मचारियों और कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम के लाभार्थियों से संवाद किया। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कल मेरा जन्मदिन था, लेकिन आप सभी ने इस दिन को खास बना दिया।

पीएम मोदी ने कहा कि देश में कल रिकार्ड टीकाकरण हुआ है। जन्मदिन तो आएंगे और जाएंगे, लेकिन कल के दिन ने मेरे दिल को छू लिया है। कल देश में वैक्सीन की रिकॉर्ड 2.5 करोड़ से ज्यादा डोज़ दी गईं। पीएम मोदी ने कहा कि, ‘’मैं देश के सभी डॉक्टरों, मेडिकल स्टाफ, प्रशासन से जुड़े लोगों की भी सराहना करना चाहता हूं। आप सभी के प्रयासों से कल भारत ने एक ही दिन में ढाई करोड़ से भी अधिक लोगों को वैक्सीन देने का रिकॉर्ड बनाया है। जन्मदिन तो बहुत आए और बहुत गए, लेकिन मैं मन से हमेशा इन चीजों से अलिप्त रहा हूं। इन चीजों से मैं दूर रहा हूं। लेकिन मेरी इतनी आयु में कल का दिन मेरे लिए बहुत भावुक कर देने वाला था।’’

हर किसी ने सहयोग किया, ये बड़ी बात

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, ‘’मेडिकल फील्ड के लोग, जो लोग पिछले दो साल से जुटे हुए हैं, अपनी जान की परवाह किए बिना कोरोना से लड़ने में देशवासियों की मदद कर रहे हैं, उन्होंने कल जिस तरह से वैक्सीनेशन का रिकॉर्ड बनाकर दिखाया है, वो बहुत बड़ी बात है। हर किसी ने इसमें बहुत सहयोग किया है। लोगों ने इसे सेवा से जोड़ा। ये उनका करुणा भाव, कर्तव्य भाव ही है जो ढाई करोड़ वैक्सीन डोज लगाई जा सकी।’’

भारत आने वाले 5 लाख पर्यटकों को मिलेगा मुफ्त वीजा

पीएम मोदी ने कहा कि, ‘’भारत ने अपने वैक्सीनेशन अभियान में टूरिज्म सेक्टर से जुड़े राज्यों को बहुत प्राथमिकता दी है। प्रारंभ में हमने कहा नहीं क्योंकि इस पर भी राजनीति होने लगती। लेकिन ये बहुत जरूरी था कि हमारे टूरिज्म डेस्टिनेशंस खुलें। केंद्र सरकार ने भी हाल में विदेशी पर्यटकों को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक कदम उठाए हैं। भारत आने वाले 5 लाख पर्यटकों को मुफ्त वीजा देने का फैसला किया गया है।’’

देश में कल लगी कोरोना की 2.50 करोड़ से ज्यादा डोज़

आपको बता दें कि देश में कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के मौके पर टीकाकरण अभियान को बड़ा प्रोत्साहन देते हुए टीके की 2.50 करोड़ से ज्यादा खुराक देकर एक रिकॉर्ड बनाया। देश में अब तक दी गई कुल खुराक मध्यरात्रि 12 बजे 79.33 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई। इससे पहले दैनिक खुराक का रिकॉर्ड चीन ने बनाया था, जहां जून में 2.47 करोड़ टीके लगाए गए थे। गौरतलब है कि टीकों का एक बड़ा हिस्सा भाजपा शासित बड़े राज्यों में प्रशासित किया गया था, जिसमें कर्नाटक, बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात में प्रत्येक में 20 लाख से अधिक खुराक का हिसाब था।

100 करोड़ खुराक देने की योजना

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि, “प्रधानमंत्री के उल्लेखनीय नेतृत्व में देश ने टीकाकरण की नई उपलब्धि हासिल की है।” शीर्ष सरकारी सूत्रों ने कहा कि निर्माताओं से अपेक्षित आपूर्ति को देखते हुए, अक्टूबर के दूसरे सप्ताह से पहले 100 करोड़ खुराक देने की संभावित योजना है। आने वाले त्योहारी सीजन और कई राज्यों में होने वाले चुनावों को ध्यान में रखते हुए ज्यादा से ज्यादा लोगों को पहली खुराक से कवर करने की प्राथमिकता है।

इन राज्यों में टीकों का प्रदर्शन

शुक्रवार मध्यरात्रि तक 29.38 लाख टीकाकरण के साथ बिहार सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला रहा। इसके बाद कर्नाटक (28.90 लाख), उत्तर प्रदेश (27.15 लाख), मध्य प्रदेश (26.44 लाख) और गुजरात (23.37 लाख) का स्थान रहा।

संयोग से, ये संख्या सितंबर (16 सितंबर तक) के उनके दैनिक औसत से काफी अधिक थी: बिहार (4.94 लाख खुराक), कर्नाटक (3.02 लाख), उत्तर प्रदेश (10.28 लाख), मध्य प्रदेश (3.98 लाख), और गुजरात ( 4.05 लाख)।

शुक्रवार तक, इनमें से तीन राज्यों ने टीके की कम से कम एक खुराक के साथ 75% आबादी को कवर किया था: गुजरात (84%), मध्य प्रदेश (80%) और कर्नाटक (78.5%)। उत्तर प्रदेश (51.24%) और बिहार (55.53%) आधे रास्ते के निशान के पास मँडरा गया।

राजस्थान (13.05 लाख), महाराष्ट्र (12.33 लाख) और आंध्र प्रदेश (10.85 लाख) में शुक्रवार को गैर-भाजपा शासित राज्यों ने बड़ी संख्या में खुराक दी। यह उनके सितंबर के दैनिक औसत (16 सितंबर तक): राजस्थान (3.80 लाख), महाराष्ट्र (6.61 लाख) और आंध्र प्रदेश (3 लाख) से भी काफी अधिक था।

3 लाख से अधिक खुराक देने वाले राज्य असम (7.42 लाख), तेलंगाना (5.20 लाख), पश्चिम बंगाल (3.90 लाख), केरल (3.88 लाख), और हरियाणा (3.70 लाख) थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...