1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. भारत-अमेरिका संबंधों को मजबूत करने के लिए पीएम मोदी ने दिए ‘5T’ का मंत्र, जानें क्या है ये

भारत-अमेरिका संबंधों को मजबूत करने के लिए पीएम मोदी ने दिए ‘5T’ का मंत्र, जानें क्या है ये

तीन दिवसीय यात्रा पर अमेरिका गये पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ मुलाकात की, इस दौरान दोनों के रिश्तों पर भी बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि इंडो-यूएस साझेदारी लगातार मजबूत हो रही है और हमें इसे एक नई ऊंचाई पर ले जाना है। प्रधानमंत्री ने भारत-अमेरिका संबंधों की रूपरेखा को फिर से परिभाषित करते हुए ‘5T’ की अवधारणा पर जोर दिया।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली :  तीन दिवसीय यात्रा पर अमेरिका गये पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ मुलाकात की, इस दौरान दोनों के रिश्तों पर भी बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि इंडो-यूएस साझेदारी लगातार मजबूत हो रही है और हमें इसे एक नई ऊंचाई पर ले जाना है। प्रधानमंत्री ने भारत-अमेरिका संबंधों की रूपरेखा को फिर से परिभाषित करते हुए ‘5T’ की अवधारणा पर जोर दिया।

‘मजबूत होंगे संबंध’

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि, ‘5T’ यानी परंपरा, प्रतिभा, प्रौद्योगिकी, व्यापार और संरक्षण (Tradition, Talent, Technology, Trade & Trusteeship) के कंसेप्ट के साथ हम दोनों देशों के रिश्तों को और मजबूत कर सकते हैं। व्हाइट हाउस में मीटिंग के दौरान पीएम ने आगामी दशक में भारत-अमेरिका संबंधों पर अपना दृष्टिकोण साझा करते हुए यह बात कही।

युवाशक्ति पर जताया भरोसा

द्विपक्षीय संबंधों के बारे में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों की युवाशक्ति हमारे रिश्तों को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभा सकती है। उन्होंने प्रवासी भारतीयों के योगदान की भी सराहना की। पीएम ने दोनों देशों के बीच व्यापार बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा कि हमें एक-दूसरे की जरूरत को समझना होगा और एक-दूसरे की क्षमता को स्वीकारते हुए उसका सम्मान करना होगा।

महात्मा गांधी का किया जिक्र

पीएम मोदी ने जहां मीटिंग में कई अमेरिकी कंपनियों के लिए दरवाजे खोलने और आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने की बात कही। वहीं उन्होंने, विकास के लिए भविष्य की प्रौद्योगिकी के महत्व को भी परिभाषित किया। इस बैठक में प्रधानमंत्री ने महात्मा गांधी की ट्रस्टीशिप अवधारणा के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा कि, ‘अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने महात्मा गांधी की जयंती का जिक्र किया। महात्मा गांधी ने ट्रस्टीशिप के बारे में बात की, एक अवधारणा जो आने वाले समय में हमारे ग्रह के लिए बहुत महत्वपूर्ण है’।

पीएम मोदी ने की बाइडेन की तारीफ

पीएम मोदी ने आगे बोलते हुए कहा कि ये दशक उस ट्रस्टीशिप के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है, महात्मा गांधी हमेशा इस बात की वकालत करते थे कि इस प्लेनेट के हम ट्रस्टी हैं। ये ट्रस्टीशिप की भावना भी भारत और अमेरिका के बीच के संबंधों में बहुत अहमियत रखेगी। प्रधानमंत्री ने बाइडेन की तारीफ करते हुए कहा कि, ‘मैं देख रहा हूं कि इस दशक में आपके नेतृत्व में हम जो बीज बोएंगे वो भारत-अमेरिका के साथ-साथ पूरे विश्व के लोकतांत्रिक देशों के लिए बहुत ही ट्रांसफॉर्मेटरी रहेगा’।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...