1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. बिहार : पैसों की कमी के कारण नहीं हो पा रही थी बहनों की शादी, भाई ने बनाया खुद के किडनी बेचने का प्लान, लेकिन…

बिहार : पैसों की कमी के कारण नहीं हो पा रही थी बहनों की शादी, भाई ने बनाया खुद के किडनी बेचने का प्लान, लेकिन…

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : प्राकृतिक आपदा, बेरोजगारी, महामारी ये ऐसे आपदा है, जिसने गरीब ही नहीं बल्कि मध्यम वर्गों को भी तोड़ कर रख दिया है। जिससे उनकी आर्थिक हालत बेहद खराब हो गई है। इस स्थिति से उबरने के लिए वे लाख जतन करते है, लेकिन सारा प्रयास व्यर्थ साबित होता है। क्योंकि इस स्थिति से निकलने के लिए भी चाहिए पैसा। चाहे वो बच्चों की पढ़ाई हो या बेटियों का शादी या दो वक्त की रोटी।

एक इसी से जुड़ा मामला बिहार के भोजपुर से सामने आया है। जहां एक परिवार के सामने अपने बेटियों के शादी की समस्या थी। क्योंकि इनके पास इतने पैसे नहीं थे, जिससे वो अपनी बेटियों की शादी करा सकें। लेकिन अपनी घर की इज्जत को लेकर मजदूरी कर अपने परिवार को चलाने वाले भाई ने अपनी एक किडनी बेचने की योजना बनाई। जिससे वो अपनी बहनों की शादी करा सकें, लेकिन हुआ कुछ ऐसा की, जिसने समाज को एक और उदाहरण दिया।

मामला भोजपुर जिले के कोइलवर क्षेत्र अंतर्गत कला पचरुखीया गांव का है जहां एक बहुत ही गरीब परिवार की लोगों ने मदद की। पचरुखीया गांव के निवासी रामदेव महतो मालगुजारी का काम करते हैं। बेटियों की शादी के लिए होने वाले भारी भरकम खर्च को पूरा करना उनके लिए बहुत मुश्किल था।

फसल में हो गया था नुकसान

रामदेव महतो के छह बच्चे हैं जिसमें से पांच लड़कियां हैं। एक लड़का है वह भी मजदूरी ही करता है। रामदेव ने पहले ही अपनी बड़ी बेटी रिंकू की शादी करा चुका था। इसके बाद आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से वो बाकी बेटियों की शादी नहीं करा पा रहा था। उसने मालगुजारी पर दो बिगहा खेत लिया जिसमें एक बिगहा में गेहूं और सवा बिगहा में सरसों लगाया पर मालगुजारी लिए हुए खेत में भी उसे नुकसान हो गया।

अभी और दो बेटियों की करानी है शादी

बीते मंगलवार को राधिका और राजकुमारी की शादी हुई। इसके बाद भी अभी रामदेव को दो बेटियों ज्योति और अंजली की शादी करानी है। रामदेव की पत्नी संगमा महतो ने बताया कि उनकी दोनों बेटी की शादी पैसों की वजह से नहीं हो रही थी तो उनके बेटे ने बहनों की शादी के लिए अपनी किडनी बेचने के लिए तैयार हो गया था। उन्होंने यह बात आरा में आरण्य देवी में स्थित एक पंडित से कहा जिसके बाद वहां के भक्तों की मदद से यह शादी हो पा रही है।

वहीं, भाई ओम प्रकाश ने बताया कि वो अपनी दोनों बहनों की शादी कर्ज लेकर कर रहा है। उसने कहा कि घर की इज्जत की बात थी इसलिए वो अपनी किडनी बेचकर भी यह शादी करवाना चाहता था पर उसकी मां ने रोक दिया। उसने कहा कि किसी तरह भिक्षा लेकर बहनों की शादी करा रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads