Home Madhya Pradesh अपनी ही ‘गर्लफ्रेंड’ को कोचिंग से भगा ले गई लड़की, घरवाले पहुंचे थाने

अपनी ही ‘गर्लफ्रेंड’ को कोचिंग से भगा ले गई लड़की, घरवाले पहुंचे थाने

0 second read
0
729

नई दिल्ली :  सुप्रीम कोर्ट द्वारा धारा 377 हटाने के बाद उन सभी लोगों के बांछे खिल गई जो सेम ही लिंग के लड़की या लड़के से प्यार करते है, जिसे आप लेस्बियन भी कहते है। एक ऐसा ही मामला मध्य प्रदेश के सागर जिले से सामने आया है, जिसमें एक लड़की पर दूसरी लड़की को भगा ले जाने का आरोप लगा है। गायब हुई लड़की के परिजनों ने उसकी सहेली पर ही अपहरण का आरोप लगाया है।

वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने भी गुमशुदगी का रिपोर्ट दर्ज कर लिया है। हालांकि तीन दिन लापता रहने के बाद अब लड़की मिल गई है। आपको बता दें कि 22 मार्च को सिविल लाइन थाना क्षेत्र में 20 साल की युवती की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। अगले दो दिन तक उसकी कोई जानकारी नहीं लगी तो परिजन 24 मार्च की दोपहर एसपी ऑफिस पहुंचे, उन्होंने उसकी ही दोस्त पर अपहरण करने के आरोप लगाते हुए तलाशने की गुहार लगाई।

इसके बाद पुलिस ने बुधवार शाम को पुलिस ने लड़की को सही सलामत ढूंढ लिया और अब वो उससे पूछताछ कर रही है। एडिशनल एसपी विक्रम कुशवाहा ने बताया कि लड़की को बरामद कर लिया गया है, उससे पूछताछ की जा रही है। उसके बयानों के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरों की मानें तो, दोनों लडकियां सहमति के आधार पर ही भागी थीं। एक लड़की सिविल लाइन के संजय नगर में रहती है। जबकि उसकी दोस्त खुरई की रहने वाली है। गुम हुई लड़की के पिता का कहना है कि मेरी बेटी दो दिन से लापता थी। उसकी सहेली लड़की उसे कोचिंग से ले गई थी। वहीं लड़की की मां ने आरोप लगाया कि एसपी साहब बोल रहे हैं जांच करवा रहे हैं लेकिन पुलिस से अभी तक कोई मदद नहीं मिली है।

आपको बता दें कि अभी तक ये बातें सामने नहीं आई है कि लड़की किस कारण से भागी है। क्या वह अपने लड़की गर्लफ्रेंड के कारण भागी। या उसके परिवार को उन दोनों का रिश्ता मंजूर नहीं था, इस कारण वो भागी। भला माजरा जो भी हो, ये बातें पुलिसियां पूछताछ के पूरे होने के बाद ही सामने आयेगा।

Load More In Madhya Pradesh
Comments are closed.