Home उत्तर प्रदेश अखिलेश के लैपटॉप पर भारी पड़ेगा योगी का टैबलेट!, वित्त मंत्री ने युवाओं के लिए किया बड़ा एलान

अखिलेश के लैपटॉप पर भारी पड़ेगा योगी का टैबलेट!, वित्त मंत्री ने युवाओं के लिए किया बड़ा एलान

5 second read
0
161

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सोमवार को अपने कार्यकाल का पांचवा बजट पेश कर  रही है। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना विधानसभा में बजट पेश कर रहें हैं। आपको बता दें कि योगी सरकार का यह लगातार पांचवा बजट है। सोमवार को विधानसभा में बजट पेश होने के बाद अगले साल विधानसभा चुनाव होगा।

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पेपरलेस बजट पेश करते हुए कहा कि “अभ्युदय योजना के तहत छात्रों को टैबलेट दिए जाएंगे”। आपको बता दें कि इस योजना के तहत सिविल सेवा, जेईई, नीट, एनडीए, सीडीएस समेत अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की निशुल्क कोचिंग कराई जाएगी।

सरकार का लक्ष्य है कि अभ्युदय योजना के अंतर्गत गरीब परिवार के बच्चो के नि:शुल्क तैयारी कराई जायेगी। आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस योजना को शुरू किया है। इस दौरान उन्होने कहा था कि, इस योजना से परीक्षाओं की तैयारी को लेकर धन की कमी आड़े नहीं आएगी।

इस योजना के तहत UPSC, UPPSC, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग समेत अन्य भर्ती बोर्ड संस्थाओं द्वारा आयोजित परीक्षाएं शामिल हैं। वहीं जेईई और नीट की परिक्षाओं की भी तैयारी कराई जायेगी। इतना ही नहीं NDA, CDS, अर्धसैनिक, केंद्रीय पुलिस बल, बैंकिंग, SSC, B.ED, TET समेत अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के तहत तैयारी कराई जायेगी।

इस योजना का कार्यान्वयन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की निगरानी में किया जाएगा। जे आई सी केंद्र पर सुबह 8:30 बजे से 10:00 बजे तक और 3:30 बजे से लेकर 5:00 शाम बजे तक मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत दो पाली में कक्षाएं लगाई जा रही हैं।

आपको बता दें कि अखिलेश यादव की सरकार में तत्कालीन इंटरमीडिएट पास करने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप वितरित किया गया था। उस वक्त अखिलेश सरकार का मानना था कि लैपटॉप से बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई में सहायता मिलेगी। वहीं सोमवार को वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने अभ्युदय योजना के अंतर्गत एलान किया कि तैयारी करने वाले छात्रों को ऑनलाइन तैयारी करने के लिए टैबलेट वितरित किया जायेगा।

अगले साल विधानसभा चुनाव को देखें तो युवाओं में योगी सरकार को लेकर काफी गुस्सा है। युवाओं का मानना है कि योगी सरकार रोजगार के मुद्दे पर विफल साबित हुई है। जिसकी कमीं पूरा करने के लिए योगी सरकार ने अभ्युदय योजना की शुरुआत की है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.