1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. छठ पर्व को लेकर दून जिला प्रशासन ने मानक प्रचलन विधि जारी कर दी

छठ पर्व को लेकर दून जिला प्रशासन ने मानक प्रचलन विधि जारी कर दी

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

देहरादून: लोक आस्था का छठ महापर्व छठ नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है। पर्व की खुशियों पर कोरोना संक्रमण का साया न मंडरा पाए, इसको लेकर जिला प्रशासन भी अलर्ट मोड में आ गया है। छठ पर नदी, नहरों किनारे, घाट आदि पर बड़ी संख्या में लोग एकजुट होकर सूर्य को अर्घ्य देते हैं। ऐसे में कोरोना संक्रमण बढ़ सकता है। लिहाजा, प्रशासन ने सार्वजनिक स्थल पर एकजुट होकर अर्घ्य देने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) बीर सिंह बुदियाल ने बुधवार को जारी आदेश में कहा कि सभी लोग अपने-अपने घरों पर रहकर ही पूजन करेंगे और सूर्य को अघ्र्य देंगे। घरों में आसपास भी लोग सीमित संख्या में एकत्रित होंगे और शारीरिक दूरी के नियमों का पालन कर अनिवार्य रूप से मास्क पहनेंगे।

इसके अलावा 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का पूजा के दौरान उचित ध्यान रखने और 65 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को पूजन से दूरी बनाकर रखने की सलाह दी गई है। आदेश में यह भी कहा गया है कि कंटेनमेंट जोन में पूजा का आयोजन प्रतिबंधित रहेगा। किसी भी तरह के नियम के उल्लंघन पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

छठ पूजा को लेकर जारी दिशा-निर्देश 

  • घरों पर रहकर ही दिया जाएगा अर्घ्य।
  • दो गज की दूरी और मास्क जरूरी
  • कंटेनमेंट जोन में छठ पूजा का आयोज पूरी तरह प्रतिबंधित।
  • सभी श्रद्धालु छठ पूजा के कार्यक्रम के दौरान अधिक संख्या में घरों में एकत्रित न हों।
  • दस वर्ष से कम आयु के बच्चों का छठ पूजा कार्यक्रम के दौरान विशेष ख्याल रखा जाए।
  • 65 वर्ष से अधक आयु की महिलाओं और पुरुषों को अपने स्वास्थ्य के लिए इस कार्यक्रम से दूरी बनाए रखना बेहतर होगा।
  • समय-समय पर केंद्र सरकार, राज्य सरकार और जिला प्रशासन के जरिए जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना बेहद जरूरी है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...