1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. वैक्सीन की कमी के चलते नोएडा में चरमरा गई टीकाकरण की व्यवस्था, टला वैक्सीनेशन का महाअभियान, अब सिर्फ…

वैक्सीन की कमी के चलते नोएडा में चरमरा गई टीकाकरण की व्यवस्था, टला वैक्सीनेशन का महाअभियान, अब सिर्फ…

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : कोरोना महामारी को लेकर उत्तर प्रदेश के नोएडा में 1 जुलाई से टीकाकरण अभियान शुरू होने वाला था, जिसे फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। जिसका कारण वैक्सीन की कमी होना बताया जा रहा है। आपको बता दें कि दो दिन तक टीकाकरण बंद रहने के बाद नोएडा और ग्रेटर नोएडा के सरकारी सेंटरों पर गुरुवार को सिर्फ 7700 लोगों को वेक्सीन की डोज लगाई जाएंगी। इनमें 2800 डोज कोवेक्सीन की होंगी।

सिर्फ इनको ही लगेगा वैक्सीन

स्लॉट बुकिंग वालों को ही वैक्सीन लगेगी। वह भी पहले आओ पहले पाओ के आधार पर। वहीं, गुरुवार को जिले में मात्र 38 सेंटरो पर वैक्सीन लगेगी। इनमे 7 सेंटरो पर कोवेक्सीन लगाई जाएगी। हर रोज बदलते इन नियमों की वजह से आम नागरिक इस समय कंफ्यूजन की स्थिति में है। निजी सेंटरों पर लोग टीका लगवा सकते हैं।

विभाग के पास सिर्फ 7700 डोज ही

बता दें कि वैक्सीन की कमी के चलते जिले में टीकाकरण की व्यवस्था चरमरा गई है। 2 दिन से टीका लगवाने के लिए लोग भटक रहे हैं। बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य विभाग के पास फिलहाल 7700 वैक्सीन की डोज उपलब्ध हैं, जिन्हें गुरुवार को लगा दिया जाएगा। इसके बाद आगे क्या होगा। कब और कितनी वैक्सीन मिलेगी या नहीं मिलेगी, इसे लेकर शासन स्तर से स्वास्थ्य विभाग को कोई स्पष्ट निर्देश नहीं हैं।

बिना स्लॉट बुकिंग नहीं लगेगी वैक्सीन

21 जून के बाद से जिले में 15-20 हजार लोगों को हर रोज सरकारी सेंटरों पर वैक्सीन लग रही थी, लेकिन गुरुवार को केवल 7700 लोगों की ही लग पाएगी। जिन लोगों ने आज का स्लॉट बुक करा रखा है, केवल वही लोग सेंटरों पर जाएं। जिन लोगों को स्लॉट बुकिंग के बाद भी सेंटरों पर जाने के बाद वैक्सीन नहीं लग पाएगी, उनका स्लॉट कैंसल नहीं होगा। वे बाद में लगवा सकेंगे।

अब कब से चलेगा वैक्सीनेशन का महाअभियान, अभी तय नहीं

पिछले 15 दिन से एक जुलाई से शुरू होने वाले वैक्सीनेशन अभियान को लेकर तैयारी चल रही थी। अब वैक्सीन न होने की वजह से यह महाअभियान स्थगित कर दिया गया है। जिले में 200 सेंटर इसके लिए लगाने की घोषणा की गई थी। यहां तक की लोगों को पर्चियां भी बांट दी गई थीं। संभावना है कि एक जुलाई से शुरू होने वाले महाअभियान को अब 5 जुलाई के बाद शुरु किया जा सकता है।

टीका नहीं लगा तो रोकी जाएगी मेड और गार्ड की एंट्री

आपको बता दें कि कोरोना से बचाव को लेकर आरडब्ल्यूए और एओए सतर्कता बरत रही है। इसको लेकर आरडब्ल्यूए और एओए ने सेक्टर व सोसायटियों में काम करने वाले मेड, गार्ड, धोबी, प्रेसवाला, नाई, कार वॉश करने वाले समेत अन्य वर्करों को वैक्सीनेशन कराने के बाद काम करने दिया जाएगा।

आरडब्ल्यूए और अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन (एओए) ने टीकाकरण को प्रोत्साहित करने के लिए कई सेक्टरों व सोसायटियों में काम करने वाले ड्राइवर, गार्ड स्टाफ, घरेलू सहायिकाओं आदि को टीकाकरण प्रमाण पत्र दिखाने के बाद परिसर में प्रवेश दिया जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads