Home उत्तराखंड देहरादून स्मार्ट सिटी के मॉडल के रूप में तैयार की जा रही पहली रोड ट्रैफिक व्यवस्था को दे सकती है झटका, हो सकता है सड़क की चौड़ाई कम

देहरादून स्मार्ट सिटी के मॉडल के रूप में तैयार की जा रही पहली रोड ट्रैफिक व्यवस्था को दे सकती है झटका, हो सकता है सड़क की चौड़ाई कम

1 second read
0
9

देहरादून: देहरादून स्मार्ट सिटी के मॉडल के रूप में तैयार की जा रही पहली रोड ट्रैफिक व्यवस्था को झटका दे सकती है। यह झटका सड़क की चौड़ाई कम होने के रूप में लगेगा। ईसी रोड के स्मार्ट सड़क बनते ही इसकी चौड़ाई करीब तीन मीटर घट जाएगी। ट्रैफिक के दबाव वाली इस सड़क पर चौड़ाई घटेगी तो मुसीबतें बढ़ना लाजमी है। खासकर ट्रैफिक प्रभावित होगा।

देहरादून स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की ओर से पहले फेस में दो सड़कों को स्मार्ट रोड बनाया जा रहा है। पहली बहल चौक से शुरू होने वाली ईसी रोड और दूसरी कनक चौक से विकास भवन की ओर जाने वाली रोड होगी। दोनों ही सड़कों पर इन दिनों निर्माण कार्य तेज गति से चल रहा है। बता दें कि काफी दिनों से ईसी रोड की बहल चौक से सर्वे चौक की ओर आने वाले लेन बंद रखी जा रही है। यहां डक्ट आदि डालने का काम किया जा रहा है।

मौके पर निर्माण की बात करें तो सड़क के सबसे किनारे में वर्तमान के मुकाबले करीब दो गुना चौड़ा फुटपाथ होगा। फिर 1.60 मीटर चौड़ी मल्टी यूटिलिटी डक्ट होगी। इसमें टेलीफोन, ओएफसी आदि लाइनें गुजरेंगी। डक्ट के बाद ड्रेनेज नाली होगी। इसके बाद सड़क बनेगी। हाल में इसी रोड की एक लेन की ट्रैफिक चलने वाले हिस्से की चौड़ाई करीब साढ़े सात मीटर है।

डक्ट और ड्रेनेज लाइन बनने के बाद यह चौड़ाई करीब छह मीटर रह जाएगी। सड़क के दोनों ओर डक्ट डलने और ड्रेनेज लाइन डाली जानी है। इससे साफ है कि वर्तमान डीपीआर के हिसाब ट्रैफिक चलने वाले हिस्से की चौड़ाई वर्तमान से करीब तीन मीटर कम हो जाएगी। इसका सीधा असर ट्रैफिक संचालन पर पड़ेगा।

परेड ग्राउंड के पास वाली रोड चौड़ी होगी
कनक चौक से विकास भवन के बीच बनने वाली स्मार्ट रोड की चौड़ाई बढ़ाई जा रही है। इस चौड़ाई को बढ़ाने को लिए परेड ग्राउंड का काफी हिस्सा सड़क में शामिल किया जा रहा है। स्मार्ट सिटी में यह सड़क दो लेन होगी। हालांकि, अन्य जगहों पर सड़कों किनारें इस तरह जमीन नहीं है। ऐसे में वहां सड़कों की चौड़ाई पर फर्क पड़ेगा।

डक्ट डालने को खुदाई में परेशानी
मल्टी यूटिलिटी डक्ट सड़क के किनारे फुटपाथ खोदकर डाली जानी है। फुटपाथ से कई निर्माण लगे हैं। इनसे लगाकर खुदाई करने में परेशानी हो रही है। दीवारों के पास खुदाई होने में इनके गिरने का खतरा रहता है। ऐसे में खुदाई दीवार से लगाकर करें या थोड़ा छोड़कर इस पर भी अभी दोबारा विचार-विमर्श किया जा रहा है।

ज्यादा लगेगा वक्त
शहर की इन दो मॉडल रोड को तैयार करने के लिए एक नवंबर डेडलाइन रखी गई है। हालांकि, इसमें 15 दिन और ज्यादा लग सकते हैं। क्योंकि अभी काम काफी शेष रह गाया है। इनदिनों में स्मार्ट रोड पर डक्ट डालने का काम चल रहा है।

सड़क का एंगल ठीक नहीं है। इसमें सुधार किया जाएगा। सड़क की चौड़ाई स्मार्ट सिटी मानकों के हिसाब से रखी जाएगी, चौड़ाई कम नहीं होने दी जाएगी।
डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव  सीईओ, स्मार्ट सिटी देहरादून 

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.