Home उत्तराखंड लंबित मांगों पर कार्रवाई ना होने से नाराज आयकर कर्मचारियों ने एक दिवसीय भूख हड़ताल कर धरना प्रदर्शन किया

लंबित मांगों पर कार्रवाई ना होने से नाराज आयकर कर्मचारियों ने एक दिवसीय भूख हड़ताल कर धरना प्रदर्शन किया

0 second read
0
4

देहरादून:   आयकर राजत्रित अधिकारी संघ से जुड़े कर्मचारियों ने एक दिवसीय भूख हड़ताल कर धरना प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि केंद्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड उनकी मांगों को नहीं मानेगा तो सभी अधिकारी और कर्मचारी विभाग के बनाए वाटसएस ग्रुप को छोड़ देंगे। इसके अलावा किसी भी आधिकारिक बैठक में शामिल नहीं होंगे, किसी भी तरह के काल्‍पनिक काल बाधिता को नहीं मानेंगे।

गुरुवार को सुभाष रोड स्थित आयकर विभाग कार्यालय के बाहर आयकर राजत्रित अधिकारी संघ के बैनर तले कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने अध्‍यक्ष केंद्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड दिल्‍ली से मांग करते हुए कहा कि उनकी मांगों पर शीघ्र कार्रवाई की जाए।

कर्मचारियों ने कैडर रिव्‍यू एंड रीस्‍टृचरिंग 2018 की रिपोर्ट के अनुमोदन के लिए प्राधिकारी को भेजा जाए। आइटी और उससे नीचे के संवर्ग के पदों पर पदोन्‍नति के लिए लंबित डीपीसी के लिए सभी सीसीए को निर्देश जारी की जाए। वर्ष 2019 और 2020 के लिए आइटीओ से एसीसीआइटी के लिए तत्‍काल डीपीसी की जाए। संघ के अध्‍यक्ष आरसी नैनवाल ने कहा कहा कि लंबे समय से कर्मचारी मांग कर रहे हैं, लेकिन अभी तक इस दिशा में कार्रवाई नहीं हुई।

धरने में संघ के सचिव बीपीएस रौतेला, आयकर कर्मचारी महासंघ देहादून अध्‍यक्ष दीलबीर सिंह पुंडीर, वैभव विकास गोविल, हुकुम सिंह, एसएस कुटियाल, इंद्रजीत, हर्षवर्धन कुमार, डीएस नेगी, सुशील दीक्षित, वीरेंद्र कुमार मीणा, मीना बिष्‍ट, नीलम, यतेंद्र सिंह, जॉनी नेगी, मयंक श्रीवास्‍तव, केशर बहादुर, दीपक गुप्‍ता, अलका भटनागर, स्‍वाति भंडारी आदि मौजूद रहे।

कर्मचारियों की मांगें

  • सीएसएसएस संवर्ग के अधिकारियों को विभाग के पीएस, सीनियर पीएस कैडर के लिए समान वेतन दिया जाए।
  • नए फेसलेस मूल्‍यांकन समय में निरीक्षकों, एओ, पीएस, सीनियर पीएस को लैपटॉप प्रदान किया जाए।
  • सीबीआइसी की ओर से 2020 की अंशकालिक आकस्‍मिक मजदूर नियमितिकरण योजना के निर्माण से कैजुअल श्रमिकों को नियमित किया जाए।
  • मौजूदा कैडर की पदोन्‍नति के लिए वरिष्‍ठता को ध्‍यान में रखते हुए अनुकंपा के आधार पर अंतर प्रभारी स्‍थनांतरण को जारी रखा जाए।
Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.