Home उत्तर प्रदेश UP Crime: प्राइवेट स्कूल के गड्ढे में फेंका डॉक्टर का अधजला शव, बहनोई निकला हत्यारा

UP Crime: प्राइवेट स्कूल के गड्ढे में फेंका डॉक्टर का अधजला शव, बहनोई निकला हत्यारा

0 second read
0
101

रिपोर्ट: गीतांजली लोहनी

उत्तर प्रदेश/अमेठी:  उत्तर प्रदेश में अपराधों का होना कोई नयी बात नहीं है। अभी हाल ही में केंद्रीय मंत्री स्मृती ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी से अपराध का मामला सामने आया है। जहां 11 फरवरी के दिन निमंत्रण की बात कह कर एक युवक अमेठी के जामो कस्बा स्थित अपने घर से निकला था और तब से वापस नहीं लौटा। जिसके 48 घंटे बाद युवक का अधजला शव एक प्राइवेट स्कूल के परिसर में गड्ढे से बरामद हुआ।

बता दें कि 40 वर्षीय इस युवक का नाम जयकरन था जो पेशे से डॉक्टर था। जामो कस्बे में एक निजी क्लीनिक चलाता था। पुलिस के अनुसार जयकरन शुक्रवार शाम कहीं निमंत्रण में जाने की बात कहकर घर से निकला था। और देर रात तक वापस नहीं आने पर परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने युवक की हत्या के आरोपी व उसके बहनोई को गिरफ्तार कर लिया है, साथ ही पैसों के लेनदेन से उपजे विवाद को हत्या की वजह बताया।

पुलिस ने कहा है कि पैसे को लेकर हुए विवाद में आशीष दुबे और संतोष तिवारी ने जयकरन प्रजापति की हत्या कर दी है। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस अधीक्षक (एसपी) दिनेश सिंह ने कहा, “आशीष दुबे और संतोष तिवारी ने प्रजापति का अपहरण कर उनकी हत्या कर दी। इसके बाद शव को आग के हवाले कर दिया गया और आधे जले शव को दफना दिया गया।”

उनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और अपराध के लिए इस्तेमाल किए गए हथियारों को भी जब्त कर लिया गया है। तो वहीं पुलिस के अनुसार, शनिवार को संभल नहर के पास से प्रजापति की मोटरसाइकिल और मोबाइल फोन को बरामद किया गया था।

वहीं स्टेशन हाउस ऑफिसर (एसएचओ) अरुण कुमार दुबे ने कहा कि शव रविवार को मरौचा वन क्षेत्र में पाया गया।

बता दें कि अधजले शव के पास ही एक लोहे की राड भी मिली  है जिससे उसकी हत्या की गई थी। जिसके बाद पुलिस ने जयकरन के पिता गंगाराम को बुलाकर शव की पहचान कराई। पहचान होने पर पंचनामा कर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.