Home उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश के राजनीतिक मैदान में प्रियंका गांधी , कांग्रेस को फिर से उबारने की कोशिश

उत्तर प्रदेश के राजनीतिक मैदान में प्रियंका गांधी , कांग्रेस को फिर से उबारने की कोशिश

2 second read
0
19

प्रियंका गांधी के कुशल नेतृत्व व कारगर रणनीति के चलते ही, आज राज्य में कांग्रेस की स्थिति यह हो गयी है कि पार्टी नये जोशोखरोश के साथ उत्तर प्रदेश के राजनीतिक मैदान में अघोषित मुख्य विपक्षी दल की भूमिका के रूप में बेहद तत्परता के साथ, किसानों, नोजवानों, बेरोजगारों, अन्य सभी वर्ग के आम लोगों की समस्याओं को उठाकर व आम जनता के बीच जाकर, एक बेहद सक्रिय राजनीतिक दल की भूमिका का पूर्ण ईमानदारी से निर्वाहन करने का प्रयास कर रही है।

जिस तरह से प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में पार्टी को लगातार समय दे रही है, वह पार्टी के संगठनात्मक नजरिए से बेहद अच्छा है और उसको देखकर लगता है कि अब कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को भी यह समझ आ गया है, कि भविष्य में कांग्रेस की केंद्र में सरकार बनाने का रास्ता उत्तर प्रदेश की धरती से ही निकलेगा।

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी एक बार फिर से अपनी खोई हुई जमीन व जनाधार को वापस हासिल करने के लिए दिनरात एक

इसलिए ही इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी एक बार फिर से अपनी खोई हुई जमीन व जनाधार को वापस हासिल करने के लिए दिनरात एक करके अपनी संघर्षशील राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में धरातल पर जबरदस्त मेहनत कर रही है।

वैसे पिछले बहुत लंबे समय से कांग्रेस हाईकमान के उपेक्षित व्यवहार के चलते उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी एक दम सुसुप्त अवस्था में चली गयी थी। जिसको खड़ी करने के लिए अब प्रियंका गांधी दिनरात मेहनत कर रही हैं।

उत्तर प्रदेश के सदन में कांग्रेस पार्टी के विधायकों की कम संख्या बल की वजह से जो कांग्रेस के विधायकों की जनहित की आवाज़ दब गई थी, अब वो आवाज़ प्रियंका गांधी के दिये गए मंत्र से आयेदिन सदन से लेकर सड़क तक जगह-जगह विरोध-प्रदर्शनों के रूप में गूंजती दिखाई देती है।

प्रदेश के आम कांग्रेसी कार्यकर्ताओं व नेताओं में ऐसी ऊर्जा का संचार

अब प्रदेश के आम कांग्रेसी कार्यकर्ताओं व नेताओं में ऐसी ऊर्जा का संचार हुआ है कि वो बेहद मुखर होकर जन विरोध के रूप में सड़कों पर आयेदिन दिखने लगा है। कांग्रेस पार्टी की सदन से लेकर सड़क तक इस बेहद मुखर होती आवाज़ से अब राज्य में सत्ता पक्ष भी अपने भविष्य की चिंता करके कहीं ना कहीं प्रियंका गांधी के फेक्टर से भयभीत है, वह कदम-कदम पर प्रियंका गांधी के फेक्टर की काट ढूंढ रहा है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.