1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP के इन दो IPS अफसरों को अमेरिका में मिलेगा IACP अवॉर्ड, दुनिया के 40 बेहतरीन पुलिस अधिकारियों में बनाई जगह

UP के इन दो IPS अफसरों को अमेरिका में मिलेगा IACP अवॉर्ड, दुनिया के 40 बेहतरीन पुलिस अधिकारियों में बनाई जगह

दुनियाभर के 40 साल से कम उम्र के 40 बेहतरीन पुलिस अधिकारियों को यह अवॉर्ड दिया जाना है। इसमें दो  IPS अधिकारियों ने भी अपनी जगह बनाने में कामयाबी हांसिल की है। इन दो अधिकारियों में एक IPS यूपी कैडर के हैं तो दूसरे IPS यूपी के रहने वाले हैं।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

लखनऊ: योगी सरकार के जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत शानदार काम कर रही यूपी पुलिस का कोई तोड़ नहीं है। प्रदेश में अपराधियों पर नकेल तो कस ही रही है, साथ ही साथ कम्युनिटी पुलिसिंग की लगातार कोशिशें की जा रही हैं। यही कारण है कि यूपी के दो IPS अफसरों को अमेरिका का प्रतिष्ठित IACP अवॉर्ड मिलने जा रहा है।

आपको बता दें कि दुनियाभर के 40 साल से कम उम्र के 40 बेहतरीन पुलिस अधिकारियों को यह अवॉर्ड दिया जाना है। इसमें दो  IPS अधिकारियों ने भी अपनी जगह बनाने में कामयाबी हांसिल की है। इन दो अधिकारियों में एक IPS यूपी कैडर के हैं तो दूसरे IPS यूपी के रहने वाले हैं।

अमेरिका की तरफ से Shaping the future of policing profession के उद्देश्य के साथ International Association of Chiefs of Police यानी IACP अवॉर्ड 2021, दुनिया के 165 देशों में से 40 साल से कम उम्र के 40 पुलिस अफसरों को दिया जाएगा। इसमें 6 देशों के 40 पुलिस अफसरों में भारत से 2 IPS अफसर शामिल किए गए हैं और दोनों ही अधिकारी उत्तर प्रदेश के हैं।

अमेरिका की तरफ से दिए जाने वाले इस अवार्ड के लिए पहले IPS अफसर अमित कुमार हैं, जो वर्तमान में यूपी चंदौली में पुलिस अधिक्षक (SP) हैं, तो वहीं दूसरे छत्तीसगढ़ कैडर के IPS अफसर संतोष कुमार सिंह  हैं जो उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं।

आइये जानते हैं दोने IPS अफसर के बारे में…..

IPS संतोष सिंह

IPS संतोष सिंह साल 2011 बैच के IPS अफसर हैं, तो वर्तमान में छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में पुलिस कप्तान SP हैं। गाजीपुर के देवकली गांव के रहने वाले संतोष कुमार सिंह के पिता पेशे से पत्रकार हैं। शुरुआती पढ़ाई गाजीपुर के नवोदय विद्यालय में पूरी करने के बाद बीएचयू से स्नातक किया. संतोष सिंह ने स्नातकोत्तर राजनीति शास्त्र में गोल्ड मेडल हासिल किया।

इसके साथ ही JNU से संतोष कुमार सिंह ने अंतरराष्ट्रीय संबंधों पर एमफिल कर वर्तमान में दुर्ग विश्वविद्यालय से संयुक्त राष्ट्र के शांति प्रयासों पर पीएचडी कर रहे हैं। 10 साल के करियर में 2 साल के ट्रेनिंग पीरियड को छोड़ दें तो संतोष कुमार सिंह ने लगातार अपराध नियंत्रण और कम्युनिटी पुलिसिंग पर बेहतरीन काम किया है।

साल 2014 से 2016 तक नक्सल प्रभावित सुकमा में एडिशनल SP नक्सल ऑपरेशन रहे। इस दौरान हजार के लगभग नक्सलियों का सरेंडर करवाया, लगभग 500 नक्सली गिरफ्तार हुए और 88 नक्सली मारे गए। नक्सलियों पर कार्रवाई करने के साथ-साथ नक्सल प्रभावित इलाकों में पुनर्वास का कार्यक्रम चलाया, योजनाओं के तहत का लोगों तक लाभ पहुंचाया। ऐसे कई सराहनीय़ काम उन्होने किया है।

IPS अमित कुमार

जिन IPS अफसर को अमेरिका का यह प्रतिष्ठित IACP 40 अवॉर्ड दिया जाना है, दूसरे IPS अफसर अमित कुमार हैं, जो यूपी कैडर के हैं। अमित कुमार साल 2015 बैच के IPS अफसर हैं। वर्तमान में चंदौली के पुलिस अधिक्षक SP हैं। IPS अमित कुमार मूल रूप से दिल्ली के रहने वाले हैं। इनके पिता CRPF में असिस्टेंट कमांडेंट के पद से रिटायर हुए।

IPS अमित कुमार ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के साथ-साथ IIM अहमदाबाद से MBA किए, इसके बाद उन्होने कुछ महीने अमेरिका के लॉस एंजिलिस की एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट कंपनी में भी काम किया। एक IPS बनने के लिए अमित कुमार ने अमेरिकी नौकरी छोड़ दी।

IPS अमित कुमार काफी समय तक लखनऊ में SP ट्रांस गोमती, एडिशनल DCP ईस्ट के पद पर रहे। लखनऊ में तैनाती के दौरान अमित कुमार ने एक ऐसे वाहन चोर गैंग का खुलासा किया जो बीएमडब्ल्यू, ऑडी जैसी लग्जरी गाड़ियों को ऑन डिमांड चोरी करता था। फिर टोटल लॉस में गई गाड़ी के कागजात के सहारे इन लग्जरी गाड़ियों को देश के तमाम हिस्सों में बेचा जा रहा था। अमित कुमार इस पूरे गैंग का खुलासा करने वाली टीम को लीड कर रहे थे।

आपको बता दें कि इस गैंग से 15 करोड़ की कीमत वाली 112 लग्जरी गाड़ियां बरामद हुईं। लखनऊ में अमित कुमार के इस ऑपरेशन को देश के सबसे बड़े ऑपरेशन और सबसे बड़ी रिकवरी मानी गई। वर्तमान में अमित कुमार यूपी के चंदौली जिले के पुलिस अधिक्षक (SP) हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...