1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कोरोना काल में भी नहीं रुकी विकास की गति, योगी सरकार में नोएडा में 20 हजार करोड़ का हुआ निवेश

कोरोना काल में भी नहीं रुकी विकास की गति, योगी सरकार में नोएडा में 20 हजार करोड़ का हुआ निवेश

सीईओ ऋतु माहेश्वरी ने बताया कि योगी सरकार 10757 करोड़ रुपये से 2136 बड़े प्रोजेक्ट पूरे कर शहर के विकास को रफ्तार दी गई है। पिछले चार साल में 2136 बड़े प्रोजेक्ट पूरे किए गए हैं।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नोएडा: योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश की कमान संभाले साढ़े चार साल होने को हैं। इन साढ़े चार सालों में योगी सरकार के कार्यकाल का नोएडा प्राधिकरण ने लेखा-जोखा पेश किया है। नोएडा प्राधिकरण की तरफ से जारी लेखा-जोखा में जानकारी दी गई है कि औद्योगिक विकास प्राधिकरण नोएडा में इस दौरान 855 औद्योगिक इकाइयों की स्थापना हुई है। इससे नोएडा में 20560 करोड़ रुपये का निवेश आया है और करीब डेढ़ लाख लोगों को रोजगार मिला है।

योगी सरकार के कार्यकाल में नोएडा में हुए कामकाज को बताते हुए नोएडा अथॉरिटी की CEO ऋतु माहेश्वरी ने कहा कि इस सरकार के चार साल के दौरान 855 औद्योगिक इकाइयों को करीब 25 हजार वर्ग मीटर जमीन आवंटित की गई है। खास बात यह है कि सबसे ज्यादा कंपनियों को वित्तीय वर्ष 2018-19 के दौरान आवंटन किया गया जिनकी संख्या 527 है। यह योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश सरकार का दूसरा साल था।

CEO ऋतु माहेश्वरी ने आगे बताया कि कोरोना की पहली लहर से सबक लेते हुए नोएडा अथॉरिटी ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के दौरान आपदा में भी कड़ी मेहनत से काम किया और इस दौरान 186 कंपनियों को आवंटन किया गया। इन औद्योगिक इकाइयों में डेढ़ लाख प्रत्यक्ष रोजगार पैदा हुए हैं। उन्होंने कहा कि पिछले चार साल में सैमसंग, अडानी, केंट RO सिस्टम, हल्दीराम, यूफ्लेक्स, नेप्चून सिस्टम, रोटो पंप्स, माइक्रोसॉफ्ट इंडिया, वेस्टवे इलेक्ट्रॉनिक्स, वन 97 कम्युनिकेशन, TCS, मदरसन, आईएनजीकेए केयर सेंटर जैसी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय कंपनियों ने नोएडा में या तो नई औद्योगिक इकाई लगाई है या अपने कारोबार का विस्तार किया है।

सीईओ ऋतु माहेश्वरी ने बताया कि इस दौरान 10757 करोड़ रुपये से 2136 बड़े प्रोजेक्ट पूरे कर शहर के विकास को रफ्तार दी गई है। पिछले चार साल में 2136 बड़े प्रोजेक्ट पूरे किए गए हैं।

CEO ऋतु माहेश्वरी ने नोएडा प्राधिकरण द्वारा पूरे किए गये काम के बारे में बताते हुए कहा कि, उनमें नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्वा लाइन मेट्रो, कमांड कंट्रोल सेंटर, पुलिस कमिश्नरेट कार्यालय का निर्माण और शहर के सेक्टर-39 में कोविड हॉस्पिटल का निर्माण शामिल है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना की अगुवाई में नोएडा प्राधिकरण औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के साथ-साथ शहर के निवासियों को अत्याधुनिक सुविधाएं मुहैया करा रहा है।

CEO ऋतु माहेश्वरी ने बताया कि प्राधिकरण ने अप्रैल 2017 से जुलाई 2021 तक 28 बड़ी परियोजनाओं का लोकार्पण किया है। इनमें 3062 करोड़ रुपये की लागत आई है। उन्होंने शहर में यातायात को सुविधाजनक बनाने के लिए कराए गए सड़क निर्माण से लेकर छह जगह मल्टी लेवल कार पार्किंग, सेक्टर 21ए में इनडोर स्टेडियम, 14 करोड़ की लागत से शूटिंग रेंज का निर्माण भी गिनाया और कहा कि प्राधिकरण ने सेक्टर-33ए में शिल्प हाट का बनवाया. 10 एकड़ के इस हाट में 10 हजार वर्ग फीट की आर्ट गैलरी, 2000 वर्ग फीट का म्यूजियम और ऑफिस, 146 दुकानें, फूड कोर्ट में 19 स्टॉल्स, 7 इम्पोरियम-सांस्कृतिक केंद्र, 1080 वाहनों की पार्किंग, 800 दर्शकों की क्षमता का एम्फीथिएटर और 96 आर्टिस्ट की क्षमता के डॉरमेट्री की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...