Home देश शिवराज सिंह की दो टूक : सोनिया जी या तो कमलनाथ को बर्खास्त करे या कहे की उन्होंने सही कहा

शिवराज सिंह की दो टूक : सोनिया जी या तो कमलनाथ को बर्खास्त करे या कहे की उन्होंने सही कहा

14 second read
0
4
Shivraj Singh bluntly: Sonia ji should either dismiss Kamal Nath or say he was right

पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा मंत्री इमरती देवी पर की गई टिप्पणी उनके ऊपर भारी पड़ती जा रही है। इसी बीच सीएम शिवराज सिंह ने कमलनाथ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने कहा है कि कमलनाथ जी द्वारा बहन इमरती देवी पर की गई अमयार्दित टिप्पणी पर चुनाव आयोग और देश आज जवाब मांग रहा है। मैंने भी मैडम सोनिया जी को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की थी। मैं उनसे पुन: आग्रह करता हूं कि वे कमलनाथ जी के विरुद्ध कार्रवाई करें या फिर कहें कि उन्होंने जो कहा था, सही था।

दरअसल, यह मामला निर्वाचन आयोग पहुंच गया है। इस मामले में निर्वाचन आयोग ने कमलनाथ को नोटिस जारी कर 24 घंटे में जवाब तलब किया है। आपको बता दे कि मध्य प्रदेश में ‘आइटम’ शब्द लगता है की आम हो गया है। एमपी में 28 सीटों के लिए उपचुनाव बहुत जल्द होने वाले है लेकिन सबसे अधिक चर्चा अगर किसी शब्द की है तो वो आइटम शब्द की ही है। दरअसल सबसे पहले तो पूर्व सीएम कमलनाथ ने इमरती देवी को आइटम कह दिया जिसके बाद वो सार्वजनिक रूप से फूट फूट कर रोई जिसका वीडियो वायरल हुआ।

इसके बाद बीजेपी के नेता और सीएम शिवराज ने दो घंटे का मौन अनशन किया और सोनिया गांधी से पूछा की क्या इसे महिला विरोधी लोगों को आप अब भी पार्टी में रखने वाली है ? उधर राहुल गांधी ने भी उनके इस बयान की निंदा की और एक महिला को आइटम कहे जाने को अनुचित करार दिया।

इसी बीच अब कांग्रेस के नेता और कल्कि पीठ के प्रमुख आचार्य प्रमोद की और से एक वीडियो जारी किया गया है। इस वीडियो में मंत्री इमरती देवी कमलनाथ की बहन और स्वर्गीय मां के लिए ‘आइटम’ शब्द का इस्तेमाल कर रही हैं।

इस वीडियो को शेयर करते हुए आचार्य प्रमोद ने लिखा, छिन्दवाड़ा से 10 बार लोकसभा पहुँचने वाले, संसद के “वरिष्ठ” सदस्य पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनकी स्वर्गीय माँ के लिये इमरती देवी के “मधुर” वचन।

शब्दों की मर्यादा भूलते हुए इमरती देवी इस वीडियो में कह रही है कि वह बंगाली आदमी मेरे प्रदेश का आदमी नहीं है, उसकी मां और बहन आइटम होंगी, कमलनाथ की, हमें यह पता थोड़ी है।

आपको बता दे कि कमलनाथ के द्वारा दिए गए बयान पर चुनाव आयोग सहित महिला आयोग ने भी संज्ञान लिया है वहीं इमरती देवी ने मांग की है की वो सार्वजनिक रुप से माफ़ी मांगे। उन्होंने इस बाबत सोनिया गांधी को चिट्ठी भी उन्होंने लिखी हैं।

आपको बताते चले, इमरती देवी पहले कांग्रेस में ही थी लेकिन सिंधिया के अपने समर्थकों के साथ बीजेपी में शामिल होने के बाद वो भी बीजेपी में आ गई थी।

Load More In देश
Comments are closed.