Home उत्तर प्रदेश श्मशान घाट हादसा : सैकड़ों की संख्या में पीड़ित परिजन सड़क पर उतरे

श्मशान घाट हादसा : सैकड़ों की संख्या में पीड़ित परिजन सड़क पर उतरे

14 second read
0
18

श्मशाट घाट हादसा : सैकड़ों की संख्या में पीड़ित परिजन सड़क पर उतरे

गाजियाबाद के मुरादनगर में श्मशान घाट में हुए हादसे में दम तोड़ चुके लोगों के परिजनों ने प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। सैकड़ों की संख्या में पीड़ित परिजन सड़क पर उतर आए।

परिजनों ने मुरादनगर के उखलारसी के पास शव रख कर जाम लगा दिया है। नाराज प्रदर्शनकारी सीएम को बुलाने की मांग कर रहे हैं।पुलिस और प्रशासन के अधिकारी लोगों को समझाने बुझाने की कोशिश में जुटे हैं। भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

बता दें, इस मामले में मुरादनगर पालिका की अधिशासी अधिकारी निहारिका चौहान, ठेकेदार अजय त्यागी, जेई सीपी सिंह, सुपरवाइजर आशीष समेत अन्य अज्ञात व संबंधित अधिकारियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक, मामले में जेई सहित तीन लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

रविवार की सुबह बंबा श्मशान घाट पर कई लोग एक अंतिम संस्कार में शमिल होने पहुंचे थे। इसी दौरान बारिश शुरू हुई और लोग गलियारे में खड़े हो गए। इसी दौरान नवनिर्मित गलियारे का लेंटर भरभराकर गिर गया। हादसे में अबतक 25 लोगों की मौत हो चुकी है।

इस हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शोक व्यक्त किया। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए शोकाकुल परिजनों को दो-दो-लाख रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया है। साथ ही मंडलायुक्त और आईजी मेरठ को मुरादनगर हादसे की जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

इस मामले में कार्रवाई शुरू हो गई है। मुरादनगर पालिका की अधिशासी अधिकारी निहारिका चौहान, ठेकेदार अजय त्यागी, जेई सीपी सिंह, सुपरवाइजर आशीष समेत अन्य अज्ञात व संबंधित अधिकारियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया गया है। जेई सहित तीन लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.