Home उत्तराखंड पेशवाई की तैयारियों में जुटे अखाड़े, इलाहाबाद से पहुंचे चांदी के सिंहासन, भाले और संतों की छड़िया

पेशवाई की तैयारियों में जुटे अखाड़े, इलाहाबाद से पहुंचे चांदी के सिंहासन, भाले और संतों की छड़िया

12 second read
0
8

रिपोर्ट: रिजवान अहमद / मोहम्मद आबिद

हरिद्वार: कुंभ 2021 को लेकर अखाड़ों में तैयारियां अपने अंतिम चरणों पर हैं सभी अखाड़ों की धर्मध्वजा की तारीख नजदीक आ रही है जिसके लिए अखाड़े के रमता पंच अखाड़ों में पहुंच रहे हैं।इसी बीच हरिद्वार में निरंजनी अखाड़े के रमता पंच भी 25 तारीख को अखाड़े में पहुंचेंगे जिसकी तैयारियों को लेकर निरंजनी अखाड़े के सचिव रविन्द्र पूरी ने एसएमजेएन पीजी कॉलेज में लगने वाली छावनी का निरीक्षण किया।

निरंजनी अखाड़े की छावनी का निरीक्षण करते हुए अखाड़े के सचिव रवींद्र पुरी ने बताया कि आगामी 25 फरवरी को अखाड़े के रमता पंच अपनी छावनी में पहुंचेंगे, जिसके बाद 3 मार्च को छावनी से धूमधाम से पेशवाई निकलेगी।

बतादें की पेशवाई के लिए सभी समाज इलाहाबाद से आ गया है जिसमें चांदी के सिंहासन चांदी के भाले के साथ सभी संतों की छड़िया पहुंच गई है इस पेशवाई में अखाड़े के हजारों नागा सन्यासी और 50 से ज्यादा महामंडलेश्वर शिरकत करेंगे, उन्होंने बताया कि पेशवाई की भव्यता को बढ़ाते हुए हेलीकाप्टर और ड्रोन से पेशवाई पर पुष्पवर्षा की जाएगी।

वहीं कुंभ मेले में अखाड़ों की पेशवाई काफी भव्य और आकर्षण का केंद्र होती है, मगर कोरोना महामारी के कारण सभी अखाड़ों द्वारा पेशवाई को सीमित किया जा रहा है, जिसमें भारी संख्या में साधु संत मौजूद ना रहे मगर पेशवाई को भव्य और सुंदर बनाने के लिए अखाड़ों द्वारा हेलीकॉप्टर से भी फूलों की वर्षा करने की तैयारी की जा रही है जिसे पेशवाई का नजारा अलग ही देखने को मिलेगा।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.