Home उत्तर प्रदेश सपा नेताओं पर गैंगस्टर की कार्रवार्ई में सियासत गर्म, अधिकारियों से विधायक ने की मुलाकात

सपा नेताओं पर गैंगस्टर की कार्रवार्ई में सियासत गर्म, अधिकारियों से विधायक ने की मुलाकात

0 second read
0
3

रिपोर्ट :  मोहम्मद आबिद
सहारनपुर: सपा विधायक नाहिद हसन और पूर्व सांसद तबस्सुम हसन पर गैंगस्टर की कार्रवाई को लेकर सियासत गर्मा गयी है, आज सहारनपुर नगर विधायक संजय गर्ग व सपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता डीआईजी व कमिश्नर से मिले।  नगर विधायक संजय गर्ग का कहना है कि सहारनपुर कमिश्नर डीआईजी साहब से मिलकर उन्हें एक पत्र सौंपा है जिसमें इस मामले की जांच की जाए और कैराना की पूर्व सांसद नाहिद हसन की माताजी दो बार पूर्व में सपा पार्टी से सांसद रह चुकी हैं व उनके ऊपर कभी भी कोई मुकदमा नहीं दर्ज हुआ है।

नगर विधायक संजय गर्ग ने आरोपी लगाते हुए कहा है की ऐसे में उन पर अचानक गैंगस्टर कैसे लगाई जा सकती है जबकि यदि हम कानून की बात करें तो गैंगस्टर एक्ट उसी व्यक्ति पर लगती है जिस पर कम से कम पहले तीन मुकदमें दर्ज हो। लेकिन यहां राजनैतिक मतभेद की मंशा के चलते कैराना की पूर्व सांसद के ऊपर भी राजनैतिक कारणों के चलते ही गैंगस्टर लगाई गई है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा की ओवैसी की तो वोह सदन में किसी प्रकार का कोई बिल फाड़ देते हैं व कुछ भी बोलने के बाद भी उनके खिलाफ भारतीय जनता पार्टी की सरकार AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं कराती है।और केवल समाजवादी पार्टी के नेताओं पर ही मुकदमें दर्ज किए जाते हैं।

बतादें की 2022 के विधानसभा चुनाव नजदीक है ऐसे में सरकार द्वारा इन लोगों पर गैंगस्टर लगाए जाने कोई मंशा से लगती है कि चुनाव में यह लोग चुनाव न लड़ सके। फिलहाल हम लोगों को डीआईजी व कमिश्नर सहारनपुर द्वारा आश्वासन दिया गया है कि अभी जब तक पूर्ण तथ्य सामने नहीं आते हैं तब तक सपा की पूर्व कैराना सांसद तबस्सुम हसन और वर्तमान विधायक नाहिद हसन की गिरफ्तारी नहीं होगी।यदि इसके बाद भी सही जांच नहीं होती है तो हम लोग पार्टी हाई कमान से बात करके अगला कदम उठाएंगे।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.