1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. वेस्ट यूपी में होटल के लिए चक्कर लगाते रहे ओवैसी, 15 मिनट तक किया होटल लॉबी में इंतजार, फिर भी नहीं मिला कमरा

वेस्ट यूपी में होटल के लिए चक्कर लगाते रहे ओवैसी, 15 मिनट तक किया होटल लॉबी में इंतजार, फिर भी नहीं मिला कमरा

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियां अपनी कमर कस चुकी है, इसे लेकर वे लगातार अपने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक और क्षेत्र का मुआयना कर रहे है। जिससे वे अपनी पकड़ आगामी होने वाले चुनावों में कर सकें। इन्हीं सब मुद्दों के मद्देनजर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी गुरुवार को देर शाम तक वेस्ट यूपी के दौरे पर रहे। वह गाजियाबाद, हापुड़, अमरोहा होते हुए संभल और मुरादाबाद में सियासी आयोजनों में शामिल हुए।

इस दौरान ओवैसी मुरादाबाद में कुछ देर होटल में आराम करना चाहता था, लेकिन बीजेपी नेता के फाइव स्टार होटल में उनको कमरा नहीं दिया गया। हालांकि एआईएमआईएम के कार्यकर्ताओं ने चार कमरे पहले से बुक कराने का दावा किया।

15 मिनट तक ओवैसी ने किया इंतजार

भीड़ देख होटल प्रबंधक ने कमरा खोलने से इनकार दिया। उन्होंने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल के चलते कमरा खोलना मुमकिन नहीं हैं। करीब 15 मिनट ओवैसी ने होटल की लॉबी में इंतजार किया।

गाइडलाइन का हवाला देकर किया मना

मुरादाबाद में कार्यक्रम के बाद ओवैसी एक फाइव स्टार होटल में पहुंचे। यह होटल एक बीजेपी नेता का हैं। उनके साथ बिना मास्क लगाए कार्यकर्ताओं की भीड़ थी। भीड़ घुसते ही होटल प्रबंधक ने कोरोना गाइडलाइन का हवाला देकर कमरा खोलने से मना कर दिया। बाद में ओवैसी चले गए।

मोदी मैजिक नहीं हुआ था कामयाब

गौरतलब है कि मुरादाबाद और संभल में मुसलमानों की तादाद खासी हैं। यहां मोदी मैजिक भी बेसर रहा था। लोकसभा चुनाव में बिजनौर, नगीना, अमरोहा, संभल, रामपुर, मुरादाबाद से विपक्ष के एमपी जीते थे। विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी को यहां मायूसी मिली थी। इस इलाके को एसपी-बीएसपी का गढ़ माना जाता हैं।

सपा की बढ़ेगी मुश्किलें

खबरों की मानें तो ओवैसी का फोकस मुरादाबाद के साथ मेरठ, सहारनपुर, अलीगढ़ मंडल पर भी हैं। जानकारों का कहना है कि ओवैसी की एंट्री से सियासी समीकरण गरमाएगा। ओवैसी 2017 के विधानसभा चुनावों में एसपी की मुश्किलें बढा चुके हैं। अब 2022 की दस्तक को देखकर सपा में बेचैनी हैं।

संभल और मुरादाबाद में मुस्लिम वोट बैंक

इन सात विधानसभा सीटों पर मुस्लिम वोटरों की तादाद 50 प्रतिशत पार है। संभल में करीब 77 प्रतिशत, असमोली में 50 प्रतिशत, कुंदरकी में 70 प्रतिशत, बिलारी में 54 प्रतिशत, मुरादाबाद देहात 75 प्रतिशत, ठाकुरद्वारा 74 प्रतिशत और कांठ में 55 फीसदी मुस्लिम है।

2017 में बिगाड़ा था सपा का खेल

एआईएमआईएम ने कांठ में 2017 प्रत्याशी उतारा था। इसका फायदा बीजेपी को मिला था। ओवैसी के कैंडिडेट को करीब 23 हजार वोट मिले थे। बीजेपी के राजेश कुमार चुन्नू ने 76 हजार वोट मिले थे। एसपी प्रत्याशी अनीसुर्रहमान करीब ढाई हजार वोट से हार गए थे।

मुसलमानों का नुकसान करेंगे ओवैसी

संभल से एसपी सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क का कहना है कि ओवैसी की यूपी में सक्रियता मुसलमानों का नुकसान करेगी। ओवैसी जितने भी वोट काट पाएंगे, मुसलमानों के वोट काटेंगे। इसेस बीजेपी को फायदा पहुंचेगा। वह मुसलमानों का भला नहीं, बल्कि नुकसान करेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads