Home उत्तर प्रदेश नाबालिग बेटी से छेड़छाड़ की शिकायत पर पुलिस ने पिता को थाने से भगाया, घर लौटा तो फंदे से लटकी मिली बेटी

नाबालिग बेटी से छेड़छाड़ की शिकायत पर पुलिस ने पिता को थाने से भगाया, घर लौटा तो फंदे से लटकी मिली बेटी

0 second read
0
305

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

कानपुर: उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा को लेकर सीएम योगी के सख्त कानून के बाद भी सूबे में महिलाओं और बच्चियों पर आपराधिक घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अपराध का एक ताजा मामला सामने आया है कानपुर से, जहां मनचलों ने एक नाबालिग बच्ची से छेड़छाड़ की, जिसके बाद बच्ची के पिता पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराने गये। वहां से जब वो वापस लौटे तो उनकी पीड़ित फंदे पर लटकी मिली।

आपको बता दें कि यह दिल दहला देने वाली घटना कानपुर देहात के थाना राजपुर क्षेत्र की है। जहां 14 वर्षीय लड़की के साथ पड़ोस में रहने वाले कुछ लड़कों ने छेड़छाड़ करते हुए उसके साथ मारपीट की। जिसके बाद पीड़ित बेटी की शिकायत लेकर पिता थाने पहुंचा हुआ था। लेकिन पुलिस ने उसे बिना शिकायत लिखे डांट डपट कर भगा दिया। जब दुखी होकर अपने घर पहुंचा तो उसकी बेटी मर चुकी थी।

पुलिस की लापरवाही का आलम ये है कि पिता दिन में अपनी बेटी की शिकायत दर्ज कराने के लिए थाने में पहुंचा हुआ था। जहां दरोगा ने उसकी फरियाद को अनसुना करते हुए पीड़ित को भगा दिया था। लेकिन जैसे पता चला कि बच्ची की मौत हो गई है तो पुलिस ने रात में ही एफआईआर दर्ज कर ली।

पुलिस अधिक्षक केशव चौधरी की मानें तो उन्होने बताया कि मृतका की मां ने पड़ोसी और उसके लड़कों पर हत्या करने का आरोप लगाया है। शिकायत दर्ज होने के बाद एक लड़के को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि मामले की जॉच की जा रही है।

जबकि परिजनों की मानें तो उन्होने पुलिस पर ही आरोप लगा दिया है। घरवालों ने बच्ची की जान जाने का जिम्मेदार पुलिस वालों को ही बताया है। इसपर अधिकारी ने कहा कि दरोगा पर भी जॉच के बाद कार्रवाई की जायेगी।

 

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.