Home उत्तर प्रदेश नीता अंबानी ने बीएचयू में प्रोफेसर बनाए जाने की खबर को बताया गलत, छात्र कर रहे थे विरोध

नीता अंबानी ने बीएचयू में प्रोफेसर बनाए जाने की खबर को बताया गलत, छात्र कर रहे थे विरोध

0 second read
0
19

रिपोर्ट: नंदनी तोदी
वाराणसी: बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय अपनी संस्कृति और पारम्परिक ज्ञान को लेकर चर्चित है। इसी बीच एक खबर सामने आई थी, कि रिलायंस ग्रुप की कार्यकारी निदेशक, नीता अम्बानी बतौर विसिटंग प्रोफेसर यूनिवर्सिटी ज्वाइन करेंगी। इसी को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है।

दरअसल, बीते दिनों एक खबर आई थी मुकेश अंबानी की पत्नी बीएचयू में विजिटिंग प्रोफेसर के रूप में पढ़ाएंगी। इसी को लेकर जानकारी मिली थी कि बीएचयू के सामाजिक विज्ञान संकाय के डीन प्रोफेसर कौशल किशोर मिश्रा ने नीता अम्बानी को ये प्रस्ताव 12 मार्च को भेजा था। खबर थी कि नीता अम्बानी को जोड़ने का कारण बनारस सहित पूर्वांचल भर में महिलाओं का जीवनस्तर सुधारना है।

लेकिन अब इस खबर को झूठा बताया जा रहा है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के स्पोकस्पर्सन ने एक न्यूज एजेंसी को बताया कि नीता अंबानी को ऐसा किसी भी तरह का निमंत्रण नहीं मिला है। आपको बता दें, नीता अम्बानी के प्रोफेसर बनने वाली खबर के बाद बीएचयू के छात्रों ने विरोध किया था।

मीडिया से बातचीत करते हुए बीएचयू के स्टूडेंट अभिषेक ने बताया था कि विश्वविद्यालय में योग्यता नहीं बल्कि पूंजीपतियों को जोड़ा जा रहा है। इसके लिए उनके घर की महिलाओं को विश्ववविद्यालय में विजटिंग प्रफेसर बनाने का प्रस्ताव भेजा जा रहा है। जिसका हम छात्र विरोध कर रहे है। जब तक इन प्रस्तावों को रद्द नहीं किया जा सकता है।

छात्रों के गहरे प्रदर्शन के बाद, कई प्रोफेसर छात्रों को समझाने पहुचे लेकिन उनका विरोध जारी रहा। वीसी के बाद छात्रों का कहना था कि वीसी राकेश भटनागर ने उन्हें ये आश्वासन दिया है कि ऐसे किसी को भी विश्वविद्यालय में विजटिंग प्रफेसर नहीं बनाया जाएगा।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.