Home देश दुर्गा पूजा के पंडाल का उद्घाटन कर बोले मोदी, मां दुर्गा का आशीर्वाद हो तो पूरा देश ही बंगाल हो जाता है

दुर्गा पूजा के पंडाल का उद्घाटन कर बोले मोदी, मां दुर्गा का आशीर्वाद हो तो पूरा देश ही बंगाल हो जाता है

38 second read
0
2

आज पीएम मोदी वर्चुअल रुप से बंगाल के एक दुर्गा पांडाल की पूजा में शामिल हुए है। इस अवसर पर उनका स्वागत शंख और ढोल बजाकर किया गया है। इस मौके पर उन्होंने लोगों को संबोधित भी किया है।

उन्होंने कहा, पश्चिम बंगाल के मेरे भाइयों और बहनों आज भक्ति की शक्ति ऐसी है, जैसे लग रहा है कि मैं दिल्ली में नहीं लेकिन आज मैं बंगाल में आप सभी के बीच उपस्थित हूं।  जब आस्था अपरम्पार हो, मां दुर्गा का आशीर्वाद हो, तो स्थान, स्थिति, परिस्थिति, से आगे बढ़कर पूरा देश ही बंगालमय हो जाता है।

उन्होंने कहा, दुर्गा पूजा का पर्व भारत की एकता और पूर्णता का पर्व भी है। बंगाल की दुर्गा पूजा भारत की इस पूर्णता को एक नई चमक देती है, नए रंग देती है, नया श्रृंगार देती है। ये बंगाल की जागृत चेतना का, बंगाल की आध्यात्मिकता का, बंगाल की ऐतिहासिकता का प्रभाव है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस, स्वामी विवेकानंद समेत अन्य बंगाल के लोगों को याद करने का दिन है। आज के भारत को संभालने में बंगाल का बड़ा योगदान है. पीएम मोदी ने कहा कि कला और संगीत के क्षेत्र में भी बंगाल ने देश का नाम रोशन किया है।

उन्होंने कहा, हमारी मां दुर्गा ‘दारिद्रय दु:ख भय हारिणि’ कही जाती हैं, ‘दुर्गति-नाशिनी’ कही जाती हैं। अर्थात, वो दुखों को, दरिद्रता को, दुर्गति को दूर करती हैं। इसलिए, दुर्गापूजा तभी पूरी होती है जब हम किसी के दुख को दूर करते हैं, किसी गरीब की मदद करते हैं।

महिलाओं के सशक्तिकरण की बात करते हुए उन्होंने कहा, रेप की सजा से जुड़े कानूनों को बहुत सख्त किया गया है, दुराचार करने वालों को मृत्युदंड तक का प्रावधान हुआ है। भारत ने जो नया संकल्प लिया है- आत्मनिर्भर भारत के जिन अभियान पर हम निकले हैं, उसमें भी नारी शक्ति की बहुत बड़ी भूमिका है।

22 करोड़ महिलाओं के बैंक खाते खोलना हो या फिर मुद्रा योजना के तहत करोड़ों महिलाओं को आसान ऋण देना हो। चाहे ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान हो या फिर तीन तलाक के खिलाफ कानून हो। देश की नारीशक्ति को सशक्त करने के लिए निरंतर काम किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, केंद्र सरकार ने पूर्वोदय का मंत्र अपनाया है, पूर्वी भारत के विकास के लिए निरंतर फैसले लिए हैं। पूर्वोदय के इस मिशन में पश्चिम बंगाल को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है। मुझे भरोसा है कि पूर्वोदय का केंद्र बनकर पश्चिम बंगाल जल्द ही एक नई दिशा की तरफ बढ़ेगा।

Load More In देश
Comments are closed.