Home विदेश डोनाल्ड ट्रंप के संक्रमित होने पर निवेशकों में बढ़ी चिंता, विश्व के नेताओं ने जल्द स्वस्थ होने की कामना की

डोनाल्ड ट्रंप के संक्रमित होने पर निवेशकों में बढ़ी चिंता, विश्व के नेताओं ने जल्द स्वस्थ होने की कामना की

2 second read
0
0

विश्व के सबसे शक्तिशाली नेता डोनाल्ड ट्रंप के कोराना वायरस से संक्रमित होने की खबर फैलते ही पूरे विश्व से प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई और विश्व के नेताओं ने उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है।

ट्रम्प ने गुरुवार को ट्वीट किया, ”आज रात, मेलानिया और मेरे कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। हम तत्काल क्वारंटाइन और उपचार की प्रक्रिया शुरू कर रहे हैं। हम इसका एकसाथ सामना करेंगे।”

यह खबर आने पर अमेरिका में शेयरों के वायदा कारोबार और एशियाई बाजारों में गिरावट आई। एसएंडपी 500 और डाउ इंडस्ट्रियल्स के वायदा अनुबंधों दोनों में 1.9 प्रतिशत की गिरावट आई। इसके अलावा कच्चे तेल के दाम भी फिसल गए।

जापान का निक्की शुरुआती लाभ गंवाकर 0.8 प्रतिशत के नुकसान से 22,999.75 अंक पर आ गया। ऑस्ट्रेलिया का बेंचमार्क एसएंडपी/एएसएक्स 200 एक प्रतिशत टूटकर 5,815.90 अंक पर आ गया। सिंगापुर, थाइलैंड और इंडोनेशिया के बाजारों में भी गिरावट आई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्रम्प और उनकी पत्नी मेलानिया के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”मैं अपने मित्र राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया के जल्द से जल्द स्वस्थ होने और उनके उत्तम स्वास्थ्य की कामना करता हूं।”

आस्ट्रेलिया के कृषि मंत्री डेविड लिटिलप्रॉड ने कहा, ”राष्ट्रपति और प्रथम महिला को हमारी शुभकामनाएं, लेकिन इससे प्रदर्शित होता है कि कोई भी व्यक्ति कोविड-19 से अछूता नहीं रह सकता। इसलिए, इससे यह जाहिर हाता है कि कितनी भी एहतियात बरती जाए, हम सभी इसकी चपेट में आ सकते हैं।

तोक्यो की गर्वनर युरीको कोइके ने साप्ताहिक प्रेस वार्ता में कहा, ”यह एक मुश्किल समय है और इसने यह दिखा दिया है कि वैश्विक महामारी किसी को भी चपेट में ले सकती है, यहां तक कि अमेरिका के राष्ट्रपति को भी।  हालांकि, संक्रमण के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप के मास्क पहनने के प्रति अनिच्छा प्रकट करने का उन्होंने जिक्र नहीं किया।

उन्होंने कहा, ”इस खबर ने मुझे यह याद दिला दिया कि जापान में मास्क कितने व्यापक स्तर पर पहना जा रहा है।”  विश्व के बड़े मीडिया संस्थानों ने भी ट्रंप के संक्रमित होने की खबर को प्रमुखता दी। चीन की आधिकारिक समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने भी यह खबर चलाई और चीन में सरकारी टीवी सीसीटीवी पर इसकी घोषणा की गई। हालांकि, चीन की सरकार की ओर से कोई फौरी प्रतिक्रिया नहीं आई है।

चीनी के सरकारी ग्लोबल टाइम्स अखबार के मुखर संपादक हु शीजीन ने अंग्रेजी में ट्वीट किया, ”राष्ट्रपति ट्रंप और प्रथम महिला (ट्रंप की पत्नी) ने कोविड-19 को नजरअंदाज करने के अपने दाव की कीमत चुकाई है।

ईरान में सरकारी टीवी ने घोषणा की कि ट्रंप वायरस से संक्रमित हुए। एक समाचार प्रस्तोता ने अमेरिकी राष्ट्रपति की तस्वीर टीवी स्क्रीन पर प्रसारित की, जिसमें ट्रंप के चारों ओर बड़े-बड़े आकार के कोरोना वायरस दिखाये गये थे।

केइयो विश्विवद्यालय के अर्थशास्त्र के प्राध्यापक मसारू कानेको ने ट्वीट किया कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो इसलिए संक्रमित हुए थे कि उन्होंने कोराना वायरस को गंभीरता से नहीं लिया था। लेकिन दोनों नेताओं ने इससे उबरने के बाद वायपस से गंभीरता से निपटा। क्या अमेरिका उनके उदाहरण का पालन करेगा?

अमेरिका में अभी तक 70 लाख से अधिक लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं और दो लाख से अधिक लोगों की इससे मौत हो चुकी है।ट्रंप से पहले व्हाइट हाउस के वरिष्ठ अधिकारी होप हिक्स इस वायरस से संक्रमित पाए गए थे। हिक्स इस सप्ताह कई बार राष्ट्रपति के साथ यात्रा कर चुके हैं।

Load More In विदेश
Comments are closed.