Home खेल चोटिल खिलाड़ियों की संख्या बढ़ने से भारतीय कप्तान की बढ़ी मुश्किल, इन खिलाड़ियों को मिलेगा मौका

चोटिल खिलाड़ियों की संख्या बढ़ने से भारतीय कप्तान की बढ़ी मुश्किल, इन खिलाड़ियों को मिलेगा मौका

1 second read
0
11
rahane

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई भारतीय टीम ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के तीसरे टेस्ट मैच को ड्रॉ कराकर सीरीज में 1-1 की स्थिति में आ गई है। अब भारतीय टीम की निगाहें सीरीज के अंतिम और चौथे टेस्ट पर टिकी है। चौथा टेस्ट मैच ब्रिस्बेन के गाबा मैदान पर खेला जायेगा, जो इस सीरीज का निर्णायक मैच होगा।

चौथे टेस्ट मैच में भारत के लिए सबसे बड़ी परेशानी खिलाड़ियों का चोटिल होना है। आपको बता दें कि गेंदबाजी की कमान संभाल रहे यॉर्कर स्पेशलिस्ट जसप्रीत बुमराह पेट की मांसपेशियों में खिंचाव आने के कारण मैच से बाहर हो गये हैं। वहीं ब्रिस्बेन में नेट पर बल्लेबाजी करने के दौरान मयंक अग्रवाल के हाथ में चोट लग गई है। इतनी ही नहीं सिडनी टेस्ट को ड्रॉ कराने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले अश्विन भी पीठ की जकड़न से जूझ रहें हैं। शमीं, केएल राहुल, उमेश यादव, रविंद्र जडेजा और हनुमा बिहारी चोटिल होकर पहले ही बाहर हो गये हैं।

भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे के सामने सबसे बड़ी चुनौती ब्रिस्बेन टेस्ट में यह हो गई है कि वह किस खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में शामिल करेंगे। ब्रिस्बेन टेस्ट में भारतीय टीम की क्या हो सकती है, प्लेइंग इलेवन आइये देखते हैं।

ब्रिस्बेन टेस्ट में भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन:

रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (कप्तान), ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर, टी. नटराजन।

Load More In खेल
Comments are closed.