1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कैबिनेट मीटिंग में CM योगी की अध्यक्षता में मिली कई प्रस्तावों को मंजूरी, अयोध्या में 400 करोड़ से बनेगा बस स्टेशन

कैबिनेट मीटिंग में CM योगी की अध्यक्षता में मिली कई प्रस्तावों को मंजूरी, अयोध्या में 400 करोड़ से बनेगा बस स्टेशन

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

लखनऊ: सीएम योगी की अध्यक्षता में काफी समय बाद लोक भवन में संपन्न हुई कैबिनेट की बैठक में आठ प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। कैबिनेट की इस बैठक में भी दिखा कि सरकार का फोकस राम नगरी अयोध्या पर ही है। इस दौरान अयोध्या में 400 करोड़ की लागत से बस स्टैंड के निर्माण कार्य, इसके साथ ही लखनऊ में गोमती नदी को साफ-सुथरा रखने के लिए 297 करोड़ की लागत से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण को मंजूरी मिली है।

आपको बता दें कि अयोध्या में करीब डेढ़ किलोमीटर के एक फ्लाईओवर के निर्माण को भी मंजूरी मिली है। अयोध्या में पीपीपी मोड पर 400 करोड़ की लागत से बस स्टैंड का निर्माण कराया जाएगा। इंटर स्टेट टर्मिनल इस बस स्टैंड पर आने वाले लोगों को जाम से बचाने के लिए एक करीब डेढ़ किलोमीटर का फ्लाई ओवर भी बनवाया जाएगा।

इसके आलावा अयोध्या में सुल्तानपुर मार्ग नए एयरपोर्ट को जोड़ता है। इस पर ट्रैफिक जाम से बचने के लिए यहां फोर लेन फ्लाईओवर मंजूर किया गया है। यहां पर बनने वाले बस अड्डे के लिए जमीन की अड़चन दूर करने के लिए संस्कृति विभाग अपनी नौ एकड़ जमीन परिवहन विभाग को देगा।

वहीं दूसरी ओर लखनऊ में गोमती नदी को स्वच्छ करने के अभियान के तहत दो एसटीपी का निर्माण को मंजूरी मिली। लखनऊ में हैदर केनाल पर 120 एमलडी का एसटीपी बनाने के लिए 125 करोड़ राज्य सरकार देगी। बाकी राशि केंद्र से मिलेगी। इससे गोमती में सीवेज नहीं मिलेगा। इसके साथ ही 1090 चौराहे के पास भी एक एसटीपी बनेगा। अयोध्या के साथ ही बुलंदशहर के अनुपशहर में भी एक बस स्टैंड बनाने की मंजूरी दी गई है।

जबकि सरकार का फोकस पर्यटन को बढ़ावा देने पर भी है। इसको देखते हुए कैबिनेट की बैठक में अहम फैसला लिया गया है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विकास प्राधिकरणों को बड़ा अधिकार दिया गया है। अब पर्यटन के विकास के लिए काम करने पर प्राधिकरण को किसी से अनुमति नहीं लेनी पड़ेगी। प्रयागराज, आगरा, बनारस, आदि जिलों में प्राधिकरण पयर्टन का काम करा सकेंगे। पहले विकास प्राधिकरण के रिपेयर या मेंटनेंस के काम के लिए भी शासन से अनुमति लेनी पड़ती थी।

तकरीबन 8 महीने बाद लोक भवन में सम्पन्न कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता सीएम योगी ने की। बैठक में सभी कैबिनेट मंत्रियों के साथ ही राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा राज्य मंत्री भी शामिल थे। लखनऊ के लोक भवन में योगी आदित्यनाथ कैबिनेट की बैठक दिन में 12:30 बजे शुरू हुई। सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ ही सभी मंत्री लम्बे समय के अंतराल के बाद लोक भवन पहुंचे।

आपको बता दें कि सोमवार को सम्पन्न इस बैठक में सभी मंत्री आमने-सामने बैठे। कोविड महामामरी की दूसरी लहर के बाद प्रदेश कैबिनेट की यह पहली बैठक थी। सीएम योगी ने इस दौरान मंत्रिमंडल के साथ ही साथ सरकार के काम काज और भविष्य की रणनीतियों पर मंथन किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads