1. हिन्दी समाचार
  2. वायरल
  3. …इस शहर में महज 12 रुपय में बिक रहे घर, जानिए क्या है शानदार ऑफर का कारण

…इस शहर में महज 12 रुपय में बिक रहे घर, जानिए क्या है शानदार ऑफर का कारण

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : रोटी, कपड़ा और मकान, ये तीनों ऐसी वस्तुएं है जो किसी भी शख्स के लिए मूलभूत आवश्यकताएं है। इनमें से रोटी और कपड़ा का लोग किसी तरह तो लोग जोगाड़ कर लेते है, लेकिन मकान का उपाय नहीं हो पाता। क्योंकि एक मकान की तैयारी में लाखों रुपये खर्च हो जाते है। इसके बावजूद भी वो पूरी तरह तैयार नहीं होता।  वहीं अगर आप मकान बनाने के बजाये, फ्लैट खरीदते है तो इसका भी भुगतान लाखों से करोड़ों रुपये के बीच करने होते है, या उससे भी अधिक।

लेकिन दुनिया में एक देश ऐसा है, जहां महज 12 रुपये में ही आपको मकान मिल जायेगा। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर जिस घर को बनाने में लाखों-करोड़ों रुपये खर्च होते है, आखिर ऐसा क्या कारण है यहां मात्र 12 रुपये में घर बिक रहा है। आपको बता दें कि इसका प्रमुख कारण ट्रंसपोर्ट कनेक्टिविटी है।   

रॉयटर्स में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, लेग्राड शहर क्रोएशिया की दूसरी ऐसी जगह थी, जहां देश की सबसे ज्यादा जनसंख्या रहती थी। लेकिन करीब 100 साल पहले ऑस्ट्रो और हंगरियन साम्राज्य (Austro-Hungarian Empire) के टूटने के बाद से यहां जनसंख्या लगातार कम हो रही है।

लेग्राड के मेयर इवान साबोलिक ने कहा कि जब से हमारा शहर एक सीमावर्ती शहर बना है तब से यहां जनसंख्या लगातार कम हुई है। लेग्राड शहर की सीमा हंगरी से जुड़ी हुई है।

ऐसा है लेग्राड शहर का नजारा

जान लें कि लेग्राड शहर में हरियाली पर्याप्त है। यहां चारों ओर जंगल है। इस शहर में 2,250 लोग रहते हैं। 70 साल पहले लेग्राड शहर में आज के मुकाबले दोगुने लोग रहते थे। मेयर ने बताया कि हाल ही में 19 घर एक साथ खाली किए गए थे, जिसकी कीमत सिर्फ 1 कुना या 12 रुपये है। इनमें से 17 घर अब तक बिक चुके हैं।

रहने में म्युनिसिपालिटी कर रही मदद

उन्होंने आगे कहा कि इनमें से कुछ घर टूटे हुए हैं। अगर कोई यहां मकान खरीदना चाहता है तो घर की मरम्मत करने के लिए म्युनिसिपालिटी उसकी मदद करेगी। अगर कोई भी यहां रहना चाहता है तो उसे कम से कम 15 साल का यहां रुकने का एग्रीमेंट करना होगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads