1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के कारण जन जीवन अस्त-व्यस्त, पिछले 24 घंटे में 10 की मौत, आवागमन बाधित

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के कारण जन जीवन अस्त-व्यस्त, पिछले 24 घंटे में 10 की मौत, आवागमन बाधित

हिमाचल प्रदेश में लगातार हो रही बारिश होने के कारण आम जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। पिछले 24 घंटे में भारी बारिश के कारण कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है। इस बाबत हिमाचल प्रदेश आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एचपीडीएमए) की ओर से आंकड़े जारी कर दिए गए हैं। हिमाचल प्रदेश आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य में पिछले 130 दिनों में हुई बारिश के कारण 432 लोगों की मौत हो चुकी है।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : हिमाचल प्रदेश में लगातार हो रही बारिश होने के कारण आम जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। पिछले 24 घंटे में भारी बारिश के कारण कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है। इस बाबत हिमाचल प्रदेश आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एचपीडीएमए) की ओर से आंकड़े जारी कर दिए गए हैं। हिमाचल प्रदेश आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य में पिछले 130 दिनों में हुई बारिश के कारण 432 लोगों की मौत हो चुकी है।

एचपीडीएमए की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में भारी बारिश के कारण प्राकृतिक आपदा और सड़क दुर्घटना के कारण 10 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं भारी बारिश के कारण 15 से अधिक घरें ढ़ह गए हैं, जिसमें नौ गौशाला भी शामिल हैं। भारी बारिश के कारण राज्य में 123 सड़कें बंद कर दी गई है।

बारिश के कारण 1,108 करोड़ की संपत्ति का नुकसान

एचपीडीएमए के मुताबिक, राज्य में भारी बारिश के कारण 1,108 करोड़ की संपत्ति का नुकसान हुआ है जिसमें कृषि और बागवानी क्षेत्र में करीब 745 करोड़ का नुकसान हुआ है। एचपीडीएमए की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक 12 लोगों का पता नहीं चल पाया है। वहीं 857 घर और करीब 700 गौशाला पिछले 130 दिन में ढ़ह गए हैं।

होमगार्ड कार्यालय के पास भूस्खलन

इस बीच बारिश के कारण एक अन्य घटना में गुरुवार रात लगभग 10.15 बजे होमगार्ड कार्यालय (यूएस क्लब), शिमला के पास भूस्खलन हुआ था। भूस्खलन के कारण सड़क पर मलवे फैल गए। हालांकि इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। सड़क से मलवे हटाने का काम जारी है।

पुवारी से काजा का नैशनल हाइवे बंद

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के कारण किन्नौर और शिमला जिले में भूस्खलन हुआ। राज्य आपदा प्रबंधन के निदेशक सुदेश कुमार मोख्ता ने शुक्रवार को बताया कि गुरुवार की शाम भूस्खलन के बाद किन्नौर जिले के पुवारी से काजा तक राष्ट्रीय राजमार्ग बंद रहा।

शुक्रवार सुबह तक 24 घंटे में हुई 54.6 मिमी बारिश

शिमला में भी भूस्खलन के कारण होमगार्ड कार्यालय के पास एक सड़क बंद रही, वहां से मलबा हटाने का काम जारी है। अधिकारी ने बताया कि बिलासपुर में नैना देवी में 180.6 मिमी और सोलन के कंडाघाट में 65.2 मिमी बारिश हुई। शुक्रवार को सुबह साढ़े नौ बजे तक पिछले 24 घंटे में शिमला में 54.6 मिमी बारिश हुई।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...