Home विदेश लंदन में मिलती है कुत्ता घुमाने की नौकरी, मोटी तनख्वाह और रिटायरमेंट के बाद पेंशन भी

लंदन में मिलती है कुत्ता घुमाने की नौकरी, मोटी तनख्वाह और रिटायरमेंट के बाद पेंशन भी

2 second read
0
3

कुत्ता घुमाने की नौकरी, मोटी तनख्वाह और रिटायरमेंट के बाद पेंशन भी। जी हां, लंदन में स्थित लॉ फर्म जोसेफ हेग आरोंसन अपने कर्मचारियों में इजाफा करना चाहती है, जिसके लिए उसने ‘पेशेवर’कुत्ता घुमाने वाले के लिए नौकरी ऑफर की है।

जो भी व्यक्ति इस नौकरी के लिए चयनित होगा, उसे सारे दिन एक डेस्क पर बैठना होगा और काम होगा कुत्ते को घुमाना। इसके लिए उसे सालाना 30 हजार पौंड (28.95 लाख रुपये) की तनख्वाह भी दी जाएगी। साथ ही पेंशन, जीवन बीमा के साथ निजी मेडिकल और डेंटल इंश्योरेंस के लाभ भी मिलेंगे। नौकरी मिलने के बाद सुबह 9 से शाम 6 बजे तक काम करना होगा। बहुत से लोगों ने कहा है कि वे यह नौकरी कर बहुत ही खुश होंगे।

इससे पहले भी लंदन में इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं। एक साल पहले लंदन के नाइट्सब्रिज में रहने वाले एक दंपती ने अपने दो कुत्तों की देखभाल के लिए केयरटेकर रखने का एक विज्ञापन निकाला था। इस विज्ञापन में उन्होंने केयरटेकर को लाखों की सैलरी ऑफर की थी।

दरअसल इस दंपती को अपने काम की वजह से अधिकतर घर से बाहर रहना पड़ता था। यही कारण था कि उन्हें अपने दो गोल्डन रिट्रीवर कुत्तों का ध्यान रखने के लिए एक केयरटेकर चाहिए था। दंपती ने अपने पालतू कुत्तों का नाम ‘मिलो’ और ‘ऑस्कर’ रखा था। एक साल तक देखभाल करने के लिए उसे 40 हजार डॉलर (लगभग 29 लाख रुपये) दिए जाने के लिए कहा था।

दंपति ने अपने विज्ञापन में उम्मीदवार में क्या-क्या योग्यात होनी चाहिए, ये सब लिखा था। उन्होंने लिखा था कि उन्हें एक ऐसा केयरटेकर चाहिए, जिस पर वे भरोसा कर सकें, जो मेहनती भी हो और कुत्तों से प्यार करता हो। तभी वो मिलो और ऑस्कर का ध्यान रख पाएगा। विज्ञापन में ये भी लिखा है कि उनके पास कुत्तों की देखभाल करने का अनुभव होना चाहिए और अगर उन्हें खाना बनाना आता है तो ये और अच्छी बात होगी।

दंपति ने अपने विज्ञापन में उम्मीदवार में क्या-क्या योग्यात होनी चाहिए, ये सब लिखा था। उन्होंने लिखा था कि उन्हें एक ऐसा केयरटेकर चाहिए, जिस पर वे भरोसा कर सकें, जो मेहनती भी हो और कुत्तों से प्यार करता हो। तभी वो मिलो और ऑस्कर का ध्यान रख पाएगा। विज्ञापन में ये भी लिखा है कि उनके पास कुत्तों की देखभाल करने का अनुभव होना चाहिए और अगर उन्हें खाना बनाना आता है तो ये और अच्छी बात होगी।

दंपती ने विज्ञापन में लिखा था कि केयरटेकर को सिर्फ सप्ताह में पांच दिन उनकी देखभाल करनी होगी, लेकिन कभी-कभी जरूरत पड़ने पर उन्हें वीकेंड पर भी रुकना पड़ सकता है। इन सभी चीजों को पूरा करने वाले ही केयरटेकर की नौकरी प्राप्त कर पाएगा।

केयरटेकर को दोनों कुत्तों को शाम के समय घुमाने ले जाने की जिम्मेदारी होगी, उनके खाने की शॉपिंग करनी होगी, साफ-सफाई का भी ध्यान रखना होगा और एक्सरसाइज भी करानी होगी। इसके साथ ही लॉन्डरी में कपड़े भेजने होंगे और प्रेस करवाने का काम भी करना होगा। उनके रूटीन चेकअप की जानकारी रखनी होगी, उन्हें नहलाना होगा।

Load More In विदेश
Comments are closed.