Home वायरल शर्मनाक: ट्रेन में सरेआम गोरे ने किया एशियाई महिला पर पेशाब, किसी ने नहीं की मदद

शर्मनाक: ट्रेन में सरेआम गोरे ने किया एशियाई महिला पर पेशाब, किसी ने नहीं की मदद

0 second read
0
207

नई दिल्ली : दुनिया के कई देशों से लगातार ऐसी खबरें आती रहीं है, जिसमें एशियाई लोग नस्लीय टिप्पणी, भेदभाव या हिंसा का शिकार होते है। वहीं अमेरिकी सरकार इसे लेकर कोशिश तो करती है, लेकिन इस तरह के घटनाओं पर अंकुश लगाने में अभी तक नाकामयाब हुआ है। आपको बता दें कि एक ऐसी ही शर्मनाक घटना अमेरिका के न्यूयॉर्क की है। जहां एक महिला यात्री के साथ बेहद ही घिनौना मामला सामना आया है।

न्‍यूयॉर्क सिटी सबवे कार में एक महिला यात्रा कर रही थी, इसी बीच एक यात्री ने उसके और उसके सामान पर यात्रियों के सामने पेशाब कर दिया। इस दौरान ट्रेन में कई यात्री मौजूद थे, लेकिन किसी ने इस 25 वर्षीय एशियाई महिला की मदद नहीं की। जबकि कई यात्री इस शर्मनाक घटना के वीडियो बनाते नजर आये। आपको बता दें कि इस मामले के सामने के बाद न्यूयॉर्क पुलिस अब आरोपी की तलाश कर रही है।

आपको बता दें कि महिला के ऊपर पेशाब करने की यह घटना शनिवार दोपहर की है। महिला ने एशियनफीड को बताया कि, ‘ मैं उत्तर की ओर जाने वाली ट्रेन में बैठी थी। इसी बीच मास्‍क और काले रंग का कपड़ा पहने महिला की बेंच तक आया जहां वह बैठी हुई थी। आरोपी महिला के बेहद करीब बैठ गया। मैंने अपनी दायीं ओर देखा तो पाया कि आरोपी ने अपना पेनिस निकालकर मेरी तरफ कर रखा है। उसने मेरे और मेरे सामान पर पेशाब कर दिया था। हर तरफ पेशाब फैला हुआ था।’

महिला ने आगे बताया कि हम दोनों ने एक-दूसरे की ओर की ओर देखा लेकिन कुछ भी नहीं कहा। ट्रेन में कई यात्री यात्रा कर रहे थे लेकिन किसी ने न तो कुछ कहा और न ही उनके बचाव में आया। महिला ने बताया कि आरोपी गोरी नस्‍ल का था और उसकी उम्र करीब 60 साल थी। महिला ने बताया कि जब यह आरोपी 75वें एवन्‍यू स्‍टेशन पर ट्रेन से उतर रहा था, तब मैंने उसकी फोटो खींच ली थी। आरोपी के जैकेट पर अमेरिका का झंडा बना हुआ था।

महिला ने बताया कि वह इस घटना के बारे में तुरंत पुलिस को बताना चाहती थी लेकिन वह अकेली थी और उन्हें डर लग रहा था। इस वजह से महिला ने अपनी यात्रा को जारी रखा। हालांकि अब महिला ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई है लेकिन अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Load More In वायरल
Comments are closed.