1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: ज्यादा से ज्यादा जिलों में खिला कमल, मैनपुरी में भी हुआ बड़ा उलटफेर

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: ज्यादा से ज्यादा जिलों में खिला कमल, मैनपुरी में भी हुआ बड़ा उलटफेर

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

लखनऊ: जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव की वो घड़ी आग गई है, जिसका सबको इंतजार था। बीजेपी और समाजवादी पार्टी अपने-अपने जीत के दावे कर रही है। सूबे में एक बार फिर सियासी सरगर्मी बढ़ गई है। यूपी के 75 जिलों में से 53 सीटों पर मतदान किया गया। लगभग ज्यादा से ज्यादा सीटों पर भाजपा के प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है। जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव को सभी राजनीतिक पार्टियां विधानसभा चुनाव के मद्देनजर देख रही है।

नामांकन के दिन ही 22 जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदेश में निर्विरोध चुने जा चुके हैं, जिनमें से 21 बीजेपी के हैं, वहीं 1 जिला पंचायत अध्यक्ष सपा से निर्विरोध चुना गया है। 45 सीटों पर बीजेपी और समाजवादी पार्टी में सीधा मुकाबला है। आगामीं विधानसभा चुनाव को देखते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव की अहमियत बढ़ गई है। माना जा रहा है कि जिस पार्टी का दमखम जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनावों में ज्यादा बेहतर नजर आएगा, वही पार्टी विधानसभा चुनावों में बेहतर प्रदर्शन करेगी।

एक नजर उन जिलों में जहां चुनाव परिणाम आ गया है।

सपा का ग़ढ़ माना जाने वाले कन्नौज में भाजपा और सपा के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली। हालांकि भाजपा प्रत्याशी ने यहां जीत दर्ज की। भाजपा की प्रिया शाक्य को 15 मत और सपा के श्याम सिंह यादव को 13 मत प्राप्त हुए। प्रिया शाक्य विजयी घोषित की गईं।

मथुरा से किशन सिंह चौधरी जिला पंचायत अध्यक्ष घोषित किए गए हैं। किशन को 22 वोट मिले हैं इनके प्रतिद्वंदी रालोद प्रत्याशी राजेंद्र सिकरवार को 11 वोट मिले हैं। उन्नाव में भाजपा के बागी नेता को हराकर भाजपा प्रत्याशी शकुन ने हराया। उन्नाव में भाजपा के बागी नेता अरुण सिंह को हराकर भाजपा प्रत्याशी शकुन सिंह जीत गई हैं। शकुन को 28, अरुण सिंह को 19, मालती रावत को चार वोट मिले हैं।

सीतापुर में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के नतीजे घोषित हो गए हैं। भाजपा प्रत्याशी श्रद्धा सागर 79 में से 56 वोट पाकर विजयी हुई हैं। निकटतम प्रतिद्वंदी सपा प्रत्याशी अनीता राजवंशी को 22 वोट मिले हैं। डीएम ने श्रद्धा सागर को जीत का प्रणाम पत्र दिया। बाराबंकी जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी राजरानी रावत 48 मत पाकर चुनाव जीत गईं। उनके निकटतम प्रतिद्वंदी सपा की उम्मीदवार नेहा आनंद को सिर्फ 8 मत मिले। कुल पड़े 57 मतों में एक बैलट पेपर सादा पाया गया। यही नहीं पहली बार भाजपा का उम्मीदवार जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर चुना गया है।

फर्रुखाबाद में भाजपा समर्थित जिला पंचायत अध्यक्ष निर्दलीय प्रत्याशी मोनिका यादव ने 18 वोट हासिल कर जीत दर्ज की है। वहीं सपा प्रत्याशी डॉ. सुबोध यादव को 12 वोट मिले हैं। लखनऊ, बदायूं और गाजीपुर में भाजपा उम्मीदवार की जीत हुई। अमेठी में भाजपा का कमल खिला है। सीतापुर, औरैया, रामपुर, हापुड़, संभल, बाराबंकी में भी भाजपा प्रत्याशियों ने विजयी परचम लहराया है। बिजनौर में भाजपा प्रत्याशी सकेंद्र प्रताप सिंह ने जीत दर्ज की है।

हरदोई में भाजपा प्रत्याशी प्रेमावती को विजयी घोषित किया गया है। भाजपा प्रत्याशी प्रेमावती को 65 वोट मिले। जबकि सपा प्रत्याशी मुन्नी देवी गौतम को 6 वोट मिले। जिला पंचायत के कुल 72 सदस्य हैं। इनमें से 71 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

मुलायम सिंह का गढ़ माना जाने वाले मैनपुरी में जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर भाजपा ने जीत दर्ज की है। कुल 30 सदस्यों में से 29 सदस्यों ने मताधिकार का प्रयोग किया। भाजपा प्रत्याशी अर्चना भदौरिया को 18 वोट मिले। वहीं सपा प्रत्याशी मनोज यादव को 11 वोट प्राप्त हुए। महोबा में भाजपा समर्थित जय प्रकाश अनुरागी ने जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीत लिया है। अपर जिलाधिकारी रामसुरेश वर्मा ने बताया कि कुल 14 सदस्यों में से 10 वोट जय प्रकाश को मिले और चार वोट सपा समर्थित प्रत्याशी मृत्युंजय प्रताप कोमिले हैं।

सोनभद्र में अपना दल-एस की राधिका पटेल जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं। सपा के जयप्रकाश पांडेय को सात वोटों के अंतर से हराया। राधिका को 19 और जयप्रकाश को 12 वोट मिले। लखनऊ जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए सपा कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट के बाहर हंगामा किया। सपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि एक जिला पंचायत सदस्य अरुण रावत को दूसरे दल के प्रत्याशी समर्थकों ने गायब कर दिया है। उनका पता नहीं चल रहा है। साथ ही एक अन्य सदस्य को भी गायब करने का आरोप है। कलेक्ट्रेट के बाहर सुरक्षा घेरा तोड़कर सपा कार्यकर्ता धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। गौरतलब है कि सपा से अध्यक्ष पद पर विजयलक्ष्मी व भाजपा से आरती रावत प्रत्याशी हैं। कुल 25 वोट में से 13 वोट पाने वाला चुनाव में जीत दर्ज कराएगा।

मिर्जापुर में जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर भाजपा प्रत्याशी राजू कन्नौजिया ने जीत दर्ज की है। 40 मत भाजपा प्रत्याशी को मिले तो वहीं सपा प्रत्याशी आशा देवी को महज चार वोट से ही संतोष करना पड़ा। कानपुर नगर में भाजपा की स्वप्निल वरुण नई जिला पंचायत अध्यक्ष बन गई हैं। कानपुर देहात में नीरज रानी ने जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव जीत लिया है। 31 मत पड़े। निर्दलीय नीरज रानी को 26 मत मिले। प्रतिद्वंद्वी सपा के राम सिंह को पांच वोट मिले हैं। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads