Home विदेश कश्मीर को लेकर खतरनाक प्लान तैयार, तुर्की के राष्ट्रपति के साथ पाकिस्तान भी शामिल

कश्मीर को लेकर खतरनाक प्लान तैयार, तुर्की के राष्ट्रपति के साथ पाकिस्तान भी शामिल

2 second read
0
4

रिपोर्ट : मोहम्मद आबिद
नई दिल्ली :  भारत के खिलाफ पाकिस्तान की नीयत को सभी जानते हैं की किस नियत से पाकिस्तान भारत के लिए रवैया रखता है और अब पाकिस्तान के साथ भारत के खिलाफ तुर्की भी साथ आ गया है। बतादें की भारत और पाकिस्तान के बीच लगातार आतंकी गतिविधियों और कश्मीर को लेकर लगातार विवाद रहता है।

 

पाकिस्तान कश्मीर को लेकर तुर्की के साथ साजिश में शामिल हुआ है और अब तुर्की भी कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की साजिश रच रहा है। ग्रीस मीडिया ने एक रिपोर्ट में दावा किया गया है की तुर्की के राष्ट्रपति रेटप तैयर एर्देगन किराए पर लड़ाकों को हिंसा फैलाने के लिए भारत के कश्मीर भेजने की तैयारी कर रहे हैं और उनके सैन्य सलाहकार ने कश्मीर को लेकर अमेरिका में सक्रिय आतंकी संगठन का सहयोग भी लिया है।

क्या है तुर्की की इच्छा ?
पेंटापोस्टाग्मा (Pentapostagma) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि तुर्की के पैसे पर खरीदें गए संगठन का सैन्य संगठन सादत अब कश्मीर में सक्रिय होने की तैयारी कर रहा है।बतादें की तुर्की खुद को मध्य एशिया में अग्रणी शक्ति के रूप में दिखाना चाहता है और इसलिए तुर्की पाकिस्तान के साथ मिलकर कश्मीर में हिंसा फैलाने की साजिश रच रहा है।

 

बतादें की अबसे पहले भारत ने पाकिस्तान को मुहतोड़ जवाब दिया है जब पाकिस्तान ने कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की कोशिशें की हैं जिसमें सेना के ऑपरेशन में कई बड़े आतंकी ढेर हो चुके हैं, इसलिए अब वह तुर्की के साथ मिलकर अपने मंसूबों को अंजाम देना चाहता है।

SADAT कौन है और क्या करता है ?

सादत एक ऐसा ग्रुप है जो किराए पर अपने आतंकी देता है और आतंकियों की सुविधा देने के साथ ही तुर्की, सीरिया, लीबिया सहित कई देशों में जिहादियों को ट्रेनिंग देने के साथ ही हथियारों की सप्लाई का काम भी करता है।जिसमें बड़ी संख्या में तुर्की की सेना के रिटायर्ड फौजी भी शामिल हैं। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है की तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन ने मिशन कश्मीर की जिम्मेदारी सादात को सौंपी है।

Load More In विदेश
Comments are closed.