1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. CM फेस पर सियासी बयानों के बीच केशव मौर्या से मिलने पहुंचे CM योगी, अचानक पहुंचे 7 कालिदास मार्ग

CM फेस पर सियासी बयानों के बीच केशव मौर्या से मिलने पहुंचे CM योगी, अचानक पहुंचे 7 कालिदास मार्ग

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

लखनऊ: यूपी विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, सियासी पारा भी बढ़ता जा रहा है। इस बात का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को अचानक उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से मिलने उनके घर पहुंच गए हैं। योगी सरकार बने करीब साढ़े चार साल हो गया है, लेकिन ये पहली बार जब सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव मौर्य के घर 7 कालिदास मार्ग पर गए हैं। कयास लगाया जा रहा है कि केशव मौर्य के घर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कृष्ण गोपाल पहले से मौजूद हैं।

आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कोर कमेटी के सदस्यों का डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के घर पर लंच का कार्यक्रम है। इस लंच में आरएसएस के कृष्ण गोपाल भी मौजूद हैं। इसी बीच सीएम योगी आदित्यनाथ भी अचानक केशव प्रसाद मौर्य के घर पर पहुंच गए हैं। साढ़े चार साल में मुख्यमंत्री योगी का केशव मौर्य के घर जाना बड़ी बात है।

चुनावी तैयारी को आप इसी से समझ सकते हैं किएक तरफ बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष और प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह लखनऊ पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर आगामी चुनाव की रणनीति बना रहे हैं, तो दूसरी तरफ चुनाव में मुख्यमंत्री के चेहरे पर बवाल मचा हुआ है। केशव प्रसाद मौर्य कह चुके हैं कि सीएम का फेस केंद्रीय नेतृ्त्व तय करेगा।

आपको बता दें कि उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बीच मनमुटाव की खबरें कई बार आ चुकी हैं। इसना ही नहीं दोनो के बीच मनमुटाव का मामला दिल्ली दरबार में भी पहुंचा था। पंचायत चुनाव में खराब प्रदर्शन के बाद पार्टी हाईकमान यूपी चुनाव को लेकर सजग हो गया और नाराज नेताओं के साथ सरकार में शीर्ष पदों पर बैठे लोगों के मनमुटाव को दूर करने की कोशिश शुरू हुई।

RSS के दत्तात्रेय होसबाले और फिर बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने यूपी का दौरा किया। बीएल संतोष ने लखनऊ में तीन दिन तक बैठक की थी और केशव प्रसाद मौर्य समेत कई नेताओं से मुलाकात की थी। बीएल संतोष ने पूरी रिपोर्ट बनाकर दिल्ली हाईकमान को सौंप दी थी।

पार्टी में जारी हलचल के इस दौर में दिल्ली हाईकमान से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुलाकात की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद लखनऊ आते ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने राजनीतिक नियुक्तियां शुरू कर दी थीं, जो कई महीने से नहीं हुई थीं। इसके साथ ही संगठन में भी खाली पदों को भरा जाना शुरू कर दिया गया।

उप-मुख्यमंत्री केशव मौर्या और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बयान में काफी अंतर है। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि साल 2022 का चुनाव बीजेपी योगी आदित्यनाथ के फेस पर लड़ेगी। इस बयान पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सीएम का फेस दिल्ली तय करेगा। ऐसे में CM योगी का अचानक उप-मुख्यमंत्री केशव मौर्या के घर पहुंचना कई सवालों को खड़ा कर रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads