Home kolkata पश्चिम बंगाल में ममता पर बरसे सीएम योगी, कहा राज्य के विकास में कोई रुचि नहीं, केवल गुंडों और उगाही करने वालों…

पश्चिम बंगाल में ममता पर बरसे सीएम योगी, कहा राज्य के विकास में कोई रुचि नहीं, केवल गुंडों और उगाही करने वालों…

2 second read
0
6

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव शुरू होने में महज दो दिन शेष हैं, उससे पहले ही लगातार सभी पार्टियां अपना आखिरी दमखम लगा रही है, जिससे वो अपने आपको इस चुनाव में मजबूत साबित कर सकें। लेकिन ऐसा कहा जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में चुनाव दो-कोणीय है यानी की बीजेपी और टीएमसी की सीधी टक्कर है। जिसे लेकर एक तरफ जहां ममता बीजेपी सरकार पर जमकर हमला कर रही है, वहीं दूसरी तरफ बीजेपी भी लगातार उनके दावे और वादों का पोल खोल रही है।

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में सागर विधानसभा क्षेत्र में एक रैली को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि टीएमसी सरकार को राज्य के विकास में कोई रुचि नहीं है और वह केवल गुंडों और उगाही करने वालों को बढ़ावा देना चाहती हैं।

सीएम योगी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल शासन की समाप्ति की उल्टी गिनती शुरू हो गई है और बीजेपी विकास व प्रगति के नए युग की शुरुआत के लिए 35 दिन बाद राज्य में सरकार का गठन करेगी। उन्होंने कहा कि, ”एक समय पर पश्चिम बंगाल आधुनिक और प्रगतिशील राज्य था, लेकिन कांग्रेस, वाम दल और फिर तृणमूल कांग्रेस ने राज्य के औद्योगिक विकास को अवरुद्ध किया और भ्रष्टाचार पनपने लगा।”

उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल ने केन्द्र द्वारा चक्रवात ‘अम्फान’ से निपटने के लिए दी गई राहत राशि हड़प ली। उन्होंने कहा कि, ”प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चक्रवात ‘अम्फान’ से निपटने के लिए राज्य को एक हजार करोड़ रुपये दिए थे लेकिन पैसा जनता तक नहीं पहुंच पाया और तृणमूल के नेताओं ने इसे हड़प लिया।”

CM योगी ने कहा कि उनके राज्य के लोगों को अगर पीएम आवास योजना, उज्जवला योजना, आयुष्मान भारत और किसान सम्मान निधि, जैसी योजनाओं का लाभ मिल सकता है, तो पश्चिम बंगाल के लोग इनके लाभ से वंचित क्यों हैं? उन्होंने कहा कि, ”यह दर्शाता है कि तृणमूल कांग्रेस को पश्चिम बंगाल के विकास की कोई चिंता नहीं है।”

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में और केन्द्र में एक ही पार्टी के सत्ता में होने से राज्य के लोगों को फायदा होगा। आपको बता दें कि  पश्चिम बंगाल की 294 सदस्यीय विधानसभा सीटों के लिए 27 मार्च से लेकर 29 अप्रैल के बीच आठ चरणों में चुनाव होने हैं, जिसका परिणाम 2 मई को आयेगा। जो यह बतायेगा कि पश्चिम बंगाल में कौन-सी पार्टी की सरकार बनेगी।

Load More In kolkata
Comments are closed.