Home ताजा खबर बिहार विधानसभा चुनाव: भाजपा ने वीडियो जारी कर लालू यादव पर लगाए आरोप

बिहार विधानसभा चुनाव: भाजपा ने वीडियो जारी कर लालू यादव पर लगाए आरोप

24 second read
0
3

बिहार में जल्द ही पहले चरण का विधानसभा के चुनाव होने वाला है। इसके लिए सभी पार्टी चुनाव प्रचार – प्रसार को लेकर सियासी युद्ध जारी कर दिया है। दूसरी सूबे में सियासी पार्टियां वीडियो वीडियो जारी करके भी अपनी स्थिति को मजबूत करने के प्रयास करती हुई नजर आ रही हैं।

हाल ही में बिहार के दो प्रमुख सियासी दलों भाजपा और राजद ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी की हैं। जिनके माध्यमों से विरोधियों को घेरने की कोशिश की गई है।

बीजेपी की ओर ट्वीट पर जारी की गई वीडियो में राजद और कांग्रेस से वामपंथी संगठनों की बढ़ी दोस्ती पर प्रहार किया गया है। वीडियो जारी करते हुए बीजेपी पार्टी ने लिखा कि राजद और कांग्रेस ने 29 सीटें देश के टुकड़े करने की सोच रखने वाले वामपंथी संगठनों को दे दी है! ये वही वामी संगठन हैं जिनके कारण लालूराज में बिहार के 38 में से 32 जिलें नक्सल प्रभावित थे। बिहार में बंदूक को कंधा देने वाली सरकार चाहिए या फिर विकास के डबल इंजन की? फैसला आपका है!

आप को बता दे कि बीजेपी ने एक वीडियो और शेयर की है जिसमे उन्होंने लिखा गरीब-गरीब जप के खाली आपन परिवार के खजाना भरे वाला लालूवाद, जातिवाद के आग लगाके आपन रोटी पकावे वाला लालूवाद, उद्योग के नाम पर रंगदारी-अपहरण-छिनतई उद्योग लगावे वाला लालूवाद, अब सब बिहारी मिल के ना आवे देब जा सबके लूटे वाला लालूवाद!

आप को बता दे कि हाल ही में भारतीय जनता पार्टी ने मिर्जापुर स्टाइल में राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू यादव के 1990 के दशक के राज की याद दिलाई है। बीजेपी ने अपने ट्वीट में कहा 1990 के दशक में लालू यादव के राज में बिहार में तैयार हुई एक भयानक डिक्शनरी! क से क्राइम, ख से खतरा, ग से गोली… याद है ना? रा से रंगदारी ज से जंगलराज, द से दादागिरी। बिहार की जनता को इस डिक्शनरी के ज्ञान को न ही फिर से जानना है, न ही पढ़ना है!

गौरतलब है कि अमेजिन की वीडियो वेब सीरीज मिर्जापुर में हिंदी वर्णमाला के व्यंजन यानि क, ख, ग से जुड़ा एक डॉयलॉग काफी फेमस है और 23 अक्तूबर को मिर्जापुर की इस लोकप्रिय सीरीज का दूसरा भाग रिलीज हो रहा है और दर्शक दूसरे भाग का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

आप को बता दे की इस बार का बिहार विधानसभा का चुनाव काफी दिलचस्प हो गए है। आरजेडी प्रमुख लालू प्रदेश यादव चारा घोटाले के आरोप में जेल में बंद है। वही लोजपा के लीडर रामविलाश पासवान की मृत्यु हो चुकी है। अगर चुनावी समीकरण की बात करे तो इस बार आरजेडी को जदयू का साथ नहीं मिल रहा है।

साल 2015 में इन दोनों ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और जीत भी हासिल की थी लेकिन करप्शन के मुद्दे पर नितीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया था।

उनके इस्तीफे देने के बाद आरजेडी सरकार से बाहर हो गई और बीजेपी ने नीतीश कुमार को समर्थन देकर उन्हें सीएम बना दिया था। इस बार बीजेपी और जेडीयू साथ मिलकर ही चुनाव लड़ रहे है वही एलजेली इस बार नीतीश कुमार से साथ चल रहे मतभेद के कारण अलग हो गई है।

वही दूसरी ओर चिराग पासवान ने भी अपनी रहे चुन ली है उन्होंने ऐलान कर दिया है की वो बीजेपी के खिलाफ भले ही नहीं जग्य लेकिन जदयू के सभी उम्मीदवारों के खिलाफ वो अपने प्रत्याशी खड़े करेंगे ऐसे में यह देखना दिलचस्प रहेगा की इस बार बिहार विधानसभा की बाजी किसके हाथों में जाएगी।

Load More In ताजा खबर
Comments are closed.