Home उत्तर प्रदेश हरदोई – धान खरीद न होने पर भाकियू ने किया मंडी में बड़ा प्रदर्शन

हरदोई – धान खरीद न होने पर भाकियू ने किया मंडी में बड़ा प्रदर्शन

10 second read
0
5
  • भाकियू प्रदेश अध्यक्ष का एलान 3 दिन में सुधर जाएं हालात
  • नही सुधार होने पर राम मन्दिर में दान करेंगे धान
  • एडीएम ने किसानों की समस्याओं को सुनकर कराया निस्तारण
  • एडीएम के आश्वासन के बाद किसानों का धरना प्रदर्शन समाप्त

हरदोई में धान खरीद न होने से नाराज भारतीय किसान यूनियन ने किसानों के साथ मिलकर मंडी में धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। किसानों के धरना प्रदर्शन की जानकारी से प्रशासन के हाथ पांव फूल गए।

मौके पर पहुंचे एडीएम सीओ सिटी जिला खाद्य विपणन अधिकारी और एआरएमओ ने किसानों से वार्ता की। उनकी बातों को सुना और उन पर गंभीरता से अमल करते हुए किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या ना होने का आश्वासन देकर किसान नेताओं को समझा-बुझाकर धरना प्रदर्शन समाप्त कराया।

बता दें कि हरदोई में धान खरीद को लेकर लगातार किसान परेशान है। जिला प्रशासन दावे कर रहा है कि धान खरीदे जा रहे है। जिला प्रशासन के दावों के उलट किसान काफी परेशान है और 2 दिन पहले किसानों ने इसको लेकर चेतावनी भी दी थी कि अगर धान खरीद नहीं हुई तो मंडी में उग्र प्रदर्शन करेंगे।

भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष हरनाम सिंह के नेतृत्व में मंडी में धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिससे वहां पर हड़कंप मच गया। मंडी में किसानों के धरने की खबर पर एडीएम संजय सिंह सीओ सिटी के साथ जिला खाद्य विपणन अधिकारी व एआरएमओ अनुराग पांडे मौके पर पहुंचे।

 

यहां पर किसान नेताओं ने सिटी मजिस्ट्रेट और मंडी के अधिकारियों कर्मचारियों पर गंभीर आरोप लगाए। किसान नेताओं ने कहा कि धान की खरीद हर हाल में होनी चाहिए। 9 बजे से सुबह से शाम 5 बजे तक धान खरीद की जाए और जो दिक्कतें है उन्हें दूर किया जाए।

अधिकारियों ने किसान नेताओं की बातें सुनी और उसके बाद समझौता हुआ कि सुबह 9 बजे से 5 बजे तक धान खरीद होगी। जिनको पहले टोकन जारी हुए हैं।

उनका धान पहले खरीदा जाएगा। मंडी में 10 कांटों पर तौल हो रही है। 3 दिनों तक इनकी संख्या बढ़ाई जाएगी। साथ ही यह भी बात हुई कि जिस अधिकारी की त्रुटि सामने आएगी, उस पर कार्यवाही की जाएगी।

इन सब बातों के बाद किसान नेताओं ने अपना धरना प्रदर्शन समाप्त किया। किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष हरनाम सिंह ने बताया प्रशासन से वार्ता हो गई है कि 3 दिनों में अगर तमाम दिक्कतों को दूर नहीं किया जाता है और धान खरीद में धांधली गड़बड़ी हुई तो उनके लोग धान को अयोध्या के राम मंदिर में दान करेंगे।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.