Home देश प्रशासन के हाथ खड़ा करते ही सेना ने संभाला मोर्चा, 5 घंटे में तैयार किया 100 बेड का कोविड सेंटर, ऑक्सीजन भी उपलब्ध

प्रशासन के हाथ खड़ा करते ही सेना ने संभाला मोर्चा, 5 घंटे में तैयार किया 100 बेड का कोविड सेंटर, ऑक्सीजन भी उपलब्ध

0 second read
0
158

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

बाड़मेर: भारतीय सेना, जिसकी मिशाल पूरी दुनिया में दी जाती है, आज हम किसी युद्ध या किसी मोर्चे की बात नहीं करने वाले हैं, बल्कि देश में कोरोना के दूसरे लहर से मचे हाहाकार की बात कर रहे हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि कोरोना महामारी में सेना का जिक्र, जी हां राजस्थान में बेकाबू हुए हालात पर प्रशासन के हाथ खड़ा करने के बाद भारतीय सेना ने मोर्चा संभाल लिया है। राजस्थान के बाड़मेर जिले में पिछले पांच दिनों में 700 ज्यादा कोरोना के मामले सामने आये। जिसके बाद सेना ने मोर्चा संभाल लिया।

आपको बता दें कि सेना ने बाड़मेर के प्रशासन को महज 5 घंटों में 100 बेड का कोविड सेंटर तैयार करके दे दिया। भारतीय सेना के मोर्चा संभालते ही प्रशासन में भी नई जान आ गई है। जैसे ही बाड़मेर प्रशासन ने सेना को बताया कि यहां के हालात बेकाबू हो गए हैं और जिले का अस्पताल फुल है। मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे हालात में जिले को एक अस्पताल की जरूरत थी।

सेना के 25 जवानों ने बुधवार शाम 5:00 बजे से इंजीनियरिंग कॉलेज में नया कोविड सेंटर बनाने की तैयारी शुरू कर दी और रात 11:00 बजे अस्पताल बनाकर पूरा कर दिया।  जिसके अंदर बेड से लेकर सारी सुविधाएं मौजूद हैं। इसी सेंटर पर ऑक्सीजन की व्यवस्था की गई है। यहां पर उन मरीजों को रखा जाएगा जिन्हें डॉक्टर की निगरानी की जरूरत है।

सेने के इस कारनामें पर इंजीनियरिंग कॉलेज की प्रभारी कमल पंवार ने कहा कि सेना के जवानों ने वह कर दिखाया है, जो कोई आम आदमी नहीं कर सकता था। सेना के जवानों ने शाम 5:00 बजे इस बिल्डिंग को अपने कब्जे में लिया पहले पूरी बिल्डिंग की साफ-सफाई की। फिर मरीजों के लिए बेड लगा दिए। यहां पर मरीजों के लिए ऑक्सीजन की भी पूरी व्यवस्था की जा रही है।

अतिरिक्त चिकित्सा मुख्य अधिकारी डॉक्टर सतारा चौधरी ने कहा कि बाड़मेर जिले में लगातार कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं। हमारे पास अन्य जगहों पर भी मरीजों को रखने के लिए व्यवस्था की है। इसके अलावा सेना से मदद मांगी गई और हमें एक ही दिन में सौ बेड का कोविड सेंटर तैयार करके दे दिया। यहां पर उन मरीजों को ही रखा जाएगा जिन्हें डॉक्टर की देखने की जरूरत है। यहां पर ऑक्सीजन की भी व्यवस्था की गई है,  ताकि किसी भी मरीज को कोई दिक्कत न हो। इसके साथ ही उन्होने बताया कि सेना ने हमें यह अस्पताल हैंडओवर कर दिया है।

Load More In देश
Comments are closed.