1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. प्रियंका के करीबी एक और नेता ने दिया इस्तीफ, UP कांग्रेस में कलह तेज

प्रियंका के करीबी एक और नेता ने दिया इस्तीफ, UP कांग्रेस में कलह तेज

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

वाराणसी: यूपी विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, सूबे में सियासत भी चरम पर हो गया है। कांग्रेस पार्टी में रारा की खबर सामने आई है। जातीय समीकरण को लेकर यूपी में सत्ता की कुर्सी तक जाने का प्रयास कर रही कांग्रेस में गुटबाजी होती नजर आ रही है। विधानसभा चुनावों से पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के प्रभारी और प्रियंका गांधी के बेहद करीबी माने जाने वाले अंकित पांडेय ने इस्तीफा दे दिया है।

आपको बता दें कि उन्होंने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अजय कुमार लल्लू पर सवर्ण और खासतौर पर ब्राह्मण विरोधी होने का आरोप लगाया है। अंकित ने कांग्रेस के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। उनके इस्तीफा देने के बाद पार्टी ने भी उन्हें सभी पदों से निलंबित कर दिया है।

सियासी मायनों को देखें तो आजमगढ़ जिले के इटैली गांव के रहने वाले अंकित पांडेय की गिनती जुझारू युवा नेताओं में होती है। कम समय में अपनी कार्य कुशलता के दम पर ही उन्होंने कांग्रेस में काफी लंबा सफर तय किया। अंकित प्रियंका गांधी के बेहद करीबी माने जाने के कारण अंकित को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वारणसी का प्रभारी भी बनाया गया। प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू द्वारा हाल में लिए गए फैसलों से नाराज होकर उन्होंने पार्टी छोड़ी है।

अंकित का आरोप है कि अजय कुमार लल्लू सवर्ण विरोधी मानसिकता के है, खासतौर पर ब्राह्मण। लल्लू संगठन में लगातार सवर्णों की अनदेखी कर रहे हैं साथ ही उन्हें किनारे लगाने में जुटे है। अजय कुमार की गलत फैसलों के कारण पार्टी को भारी नुकसान पहुंच रहा है। जो पार्टी प्रियंका के नेतृत्व में भाजपा का विकल्प बनने की तरफ बढ़ रही है उसे कमजोर करने का कोई मौका लल्लू नहीं छोड़ रहे।

अंकित ने आगे बताया कि कांग्रेस उनकी आत्मा में बसी है। अभी उन्होंने ऐसा कोई फैसला नहीं किया है। वहीं दूसरी तरफ कयास लगाए जा रहे हैं कि अंकित भाजपा में शामिल हो सकते है। आगे क्या होगा यह तो समय बतायेगा लेकिन अंकित के पार्टी छोड़ने से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads