Home उत्तर प्रदेश संभल में शिक्षा का मंदिर बना पशुओं का बाजार,शिक्षा अधिकारी है मूक

संभल में शिक्षा का मंदिर बना पशुओं का बाजार,शिक्षा अधिकारी है मूक

2 second read
0
75
Animal market became a temple of education in Sambhal, education officer is silent

 (संभल से संवाददाता सतीश सिंह की रिपोर्ट)

संभल के विकास खंड रजपुरा तहसील गुन्नौर में एक विद्यालय ऐसा है, जहां पर स्कूल को बंद कर स्कूल परिसर में पशु खरीद-फरोख्त का काम किया जाता है। जिससे गरीब मासूम बच्चों की जिंदगी से टीचर और जिले के आला अधिकारी खिलवाड़ कर रहे हैं।

दअरसल स्कूल में चल रहे इस पशु बाजार से महज चार किलोमीटर की दूरी पर खंड शिक्षा अधिकारी का कार्यालय है और उसके बावजूद कोई भी अधिकारी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। जहां एक तरफ योगी सरकार सरकारी विद्यालयों को मॉडर्न और सुंदर बनाने में लगी हुई है, तो दूसरी तरफ अध्यापक और अधिकारी इस मामले में लापरवाही दिखा रहे हैं।

आपको बता दें कि, हमारे संवाददाता ने विद्यालय का जायजा लिया और दिन समय विद्यालय में ना तो कोई बच्चा था और ना ही कोई अध्यापक, पूरे परिसर में पशुओं का जमावड़ा लगा हुआ था। जिससे काफी गंदगी फैली हुई थी। वहीं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी वीरेंद्र प्रताप सिंह से इस मामले के बारे में बात की गई तो उन्होंने बताया कि यह मामला हमारे संज्ञान में आया है।

साथ ही उन्होंने आगे बताया कि, इस मामले की जांच कराई जाएगी, और इस मामले में कोई दोषी पाया गया तो अगर उन लोगों पर कार्रवाई की जाएगी।

Share Now
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.