Home देश बंगाल चुनाव के बाद कटेगी PM MODI की दाढ़ी!, जानें क्या है इसके पीछे का राज?

बंगाल चुनाव के बाद कटेगी PM MODI की दाढ़ी!, जानें क्या है इसके पीछे का राज?

0 second read
0
17

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

कोलकाता: साल 2020 इतिहास के पन्नों में दर्ज हो चूका है, कारण बनी कोरोना महामारी। कोरोना महामारी के कारण दुनिया ठप सी हो गई थी। इस महामारी के कारण कई देशों में लॉकडाउन जैसा कड़ा फैसला लिया गया है, इन्ही में भारत भी शामिल है। इस महामारी की गंभीरता से लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लॉक डाउन लगा दिया था। लॉक डाउन के इस दौर में लोग अपने घरों में कैद होकर रह गये। इसका असर ये हुआ कि लोगो ने कहीं अपने बाल बढ़ा लिए तो कहीं अपनी दाढ़ी बढ़ा ली। इन्हीं सब लोगो में पीएम मोदी भी शामिल हो गये।

लॉकडाउन के बाद से ही पीएम मोदी ने अपनी बाल और दाढ़ी नहीं बनवाई है। पीएम मोदी बाल और दाढ़ी ने बनवाने के कारण सोशल मीडिया पर भी सुर्खियों में बने रहे। कुछ लोगो ने बताया कि यह पीएम मोदी का नया स्टाइल है, तो वहीं कुछ लोगो ने कहा कि पीएम मोदी कोरोना के कारण अपनी बाल और दाढ़ी नहीं बनवा रहें हैं। इन्ही लोगो में कुछ ने कहा कि पीएम मोदी के दाढ़ी न बनवाने का कारण बंगाल चुनाव है।

लोगो ने सोशल मीडिया पर तर्क दिया कि पीएम मोदी अपनी दाढ़ी इसलिए नहीं बनवा रहें हैं, कि वह अपनी दाढ़ी से बंगाल विधानसभा चुनाव में गुरु रविद्रनाथ टैगोर की छबि पेश करना चाहते हैं। आपको बता दें कि गुरु रविंद्रनाथ टैगोर पश्चिम बंगाल के धरोहर रहे हैं। आज भी बंगाल के लोगो में गुरु रविंद्रनाथ टैगोर के लिए काफी सम्मान है। जिसका फायदा पीएम मोदी बंगाल विधानसभा चुनाव में उठाना चाहते हैं।

अब इस बात में कितनी सच्चाई है ये खुद पीएम मोदी ही बता सकते है। बहरहाल, इस खबर की पुष्टी हमारे द्वारा नही की जा रही है। ये खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक दावे के आधार पर किया जा रहा है।

वहीं बंगाल चुनाव की बात करें तो इस विधान सभा चुनाव को लेकर सबसे ज्यादा आक्रमक भारतीय़ जनता पार्टी ही दिखाई दे रही है। तो वहीं ममता बनर्जी भी कहां शांत रहने वाली हैं। सीएम ममता बनर्जी जमकर भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोल रही हैं। गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह एक बार फिर बंगाल के दौरे पर हैं। इस दौरान इन्होने नामखाना में चुनावी सभा को संबोधित किया। शाह ने मछुआरों को आश्वासन दिया कि बीजेपी की सरकार बनने पर सभी मछुआरों को 6000 रुपये सालाना दिए जाएंगे। गृह मंत्री ने अपने भाषण में एक बार फिर जय श्री राम का उद्घोष कराया।

Load More In देश
Comments are closed.